राजा भैया ने जुटाई इतनी भीड़ कि सारे दल हो गए बेचैन

राजा भैया ने जुटाई इतनी भीड़ कि सारे दल हो गए बेचैन

Devesh Singh | Publish: Nov, 30 2018 06:30:17 PM (IST) Varanasi, Varanasi, Uttar Pradesh, India

कहा सभी जाति व धर्म के लोगों से मिलता है प्यार, एससी/एसटी अध्यादेश को लेकर भी दिया बयान

वाराणसी. कुंडा के क्षत्रिय बाहुबली राजा भैया ने लखनऊा की रैली में भीड़ जुटा कर अपनी ताकत दिखा दी है। राजा भैया की पार्टी जनसत्ता की पहली रैली ने विरोधी दलों में हड़कंप मचा दिया है। राजा भैया की सभा में यूपी के अतिरिक्त मध्यप्रदेश, राजस्थान, बिहार, छत्तीसगढ़ आदि राज्यों से आयी भीड़ ने बताया कि लोकसभा चुनाव 2019 में राजा भैया किसी भी दल का समीकरण बिगाड़ सकते हैं।
यह भी पढ़े:-फिर सौगातों की बारिश देने आयेंगे पीएम नरेन्द्र मोदी, चुनाव तक लगातार होंगे दौरे


Raja Bhaiya Jansatta Party rally
IMAGE CREDIT: Patrika

राजा भैया भी भीड़ देख कर खुश हो गये। प्रतापगढ़ के मजहर, राजेश व रमेश ने बताया कि ऐसी रैली पहली बार देखने को मिली थी। मैदान कम पड़ गया था तो लोग दीवारों पर खड़े होकर राजा भैया की बात सुन रहे थे। राजा भैया ने सवर्ण वोट बैंक साधने के लिए आरक्षण पर निशाना साधा है। राजा भैया ने कहा कि जिन लोगों को एक बार आरक्षण मिल जाता है उन्हें फिर से आरक्षण नहीं दिया जाना चाहिए। राजा भैया ने कहा कि कुंडा में चार लाख मतदाता है और क्षत्रिय मतदाता की संख्या 12000है इसके बाद भी वहां की जनता मुझे विधायक चुनती है इससे पता चलता है कि सभी जाति व धर्म के लोग वोट देते हैं। राजा भैया ने कहा कि राजनीति में बदलाव के लिए ही नयी पार्टी बनायी है, जो जाति व धर्म देखे के बिना सभी के विकास के लिए कार्य करेगी।
यह भी पढ़े:-बीजेपी के जिला मंत्री का ऑडियो वायरल, दरोगा व सिपाही को गाली देने का आरोप

राजा भैया ने बताया क्या करेगी उनकी पार्टी
राजा भैया ने कहा कि जनसत्ता पार्टी सत्ता में आती है तो किसानों की बिजली, पानी, खाद व अनाज मूल्य भुगतान की समस्या तुरंत खत्म करेगी। सीमा पर शहीद होने वाले जवानों को बिना भेदभाव किये एक करोड़ रुपया दिया जायेगा। गरीब व वंचित के लोगों को आरक्षण का लाभ मिलना चाहिए।
यह भी पढ़े:-बीजेपी की पदयात्रा एक से, लोकसभा चुनाव के पहले मतदाताओं को साधने की कवायद

एससी/एसटी एक्ट को लेकर दिया बड़ा बयान
राजा भैया ने कहा कि पूर्व पीएम राजीव गांधी ने 1989 में एससी/एसटी एक्ट बनाया था उसके बाद से इस एक्ट को जटिल बनाया जा रहा है। देश के सभी राजनीतिक दल एकजुट हुए हैं तो एससी/एसटी एक्ट को लेकर हुए थे। इसके बाद ही एससी/एसटी एक्ट का मुकदमा दर्ज होते ही ६ माह जेल जाने का प्रावधान किया गया। सभी राजनीतिक दल लोगों में फूट डालने के लिए एससी/एसटी एक्ट को जटिल बनाने में जुटे हैं।
यह भी पढ़े:-सोशल मीडिया पर वायरल हुआ स्कूली वैन से मासूम के कुचलने का वीडियो

राजा भैया ने खेला बड़ा दांव, किस दल को होगा फायदा
बीजेपी जब से एससी/एसटी एक्ट को लेकर अध्यादेश लायी है तब से सवर्ण मतदाता भारतीय जनता पार्टी से नाराज चल रहे हैं ऐसे में राजा भैया का नयी पार्टी बनाना सवर्ण मतदाताओं को साधने की तैयारी में है। लोकसभा चुनाव २०१९ में पीएम नरेन्द्र मोदी का सीधा मुकाबला राहुल गांधी, मायावती व अखिलेश यादव से हो सकता है ऐसे में राजा भैया व शिवपाल यादव की पार्टी किसी भी दल का खेल बिगाड़ सकती है।
यह भी पढ़े:-UP Collage- छात्रसंघ चुनाव नामांकन में विभिन्न पदों पर 19 प्रत्याशी ने किया पर्चा दाखिल

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned