पीएम नरेन्द्र मोदी के बाद मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का किसानों को तोहफा

  • खरीफ सीजन 2021: किसानों को समितियों से घटी हुई नई दरों पर मिलेगी खाद
  • जिन्होंने पहले ही खरीद ली उन्हें लौटाई जाएगी नई-पुरानी दर की अंतर राशि
  • लाखों किसानों को होगा फायदा, कृषि लागत में आएगी कमी

By: Anupam Rajvaidya

Published: 10 Jun 2021, 08:52 PM IST

रायपुर. छत्तीसगढ़ में मानसून की दस्तक के साथ ही मुख्यमंत्री भूपेश बघेल सरकार ने किसानों को तोहफा दिया है। खरीफ सीजन 2021 में किसानों को सहकारी समितियों के माध्यम से घटी हुई नई दरों पर खाद उपलब्ध कराने का निर्णय लिया गया है। ऐसे किसान जो पूर्व में ही खादों की खरीदी कर चुके हैं, उन्हें नई और पुरानी दर की अंतर-राशि को समितियों के माध्यम से वापस किया जाएगा।
ये भी पढ़ें... किसानों को तोहफा, धान का न्यूनतम समर्थन मूल्य बढ़ाया
बता दें कि सीएम भूपेश बघेल के निर्देश पर छत्तीसगढ़ में कृषि लागत को कम करने के लिए राज्य शासन द्वारा प्रयास किया जा रहा है। प्रदेश की कांग्रेस सरकार के नए निर्णय के बाद समितियों के माध्यम से किसानों को देय उर्वरक में प्रति बोरी भारी कटौती की गई है। किसानों को डीएपी 1800 से 1950 रुपए प्रति बोरी की बजाय 1200 रुपए, एनपीके 1747 रुपए की बजाय 1185 रुपए, एसएसपी पावडर 375 रुपए के स्थान पर 340 रुपए, एसएसपी दानेदार 406 के स्थान पर 370 रुपए और जिंके एसएसपी पावउर 391 रुपए के स्थान पर 355 रुपए में मिलेगी।
ये भी पढ़ें...छत्तीसगढ़ में इंडस बेस्ट मेगा फूड पार्क, 25 हजार किसानों को होगा फायदा
कांग्रेस सरकार द्वारा उर्वरक की दरों में कमी किए जाने के निर्णय से छत्तीसगढ़ के लाखों किसानों का फायदा होगा। फसल बोने के दौरान उन पर आर्थिक बोझ नहीं बढ़ेगा। बता दें कि पीएम नरेन्द्र मोदी सरकार ने भी बुधवार को किसानों की आय दोगुनी करने के मद्देनजर खरीफ की फसल के न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) में 50 से 60 फीसदी तक की वृद्धि की है। धान के एमएसपी में 72 रुपए प्रति क्विंटल की बढ़ोतरी की गई है।
ये भी पढ़ें... मानसून एक्सप्रेस केरल पहुंची, छत्तीसगढ़ में 16 जून को एंट्री

Show More
Anupam Rajvaidya Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned