महात्मा गांधी का स्वागत करने वाले स्वतंत्रता सेनानी के परिजन सम्मानित

  • 20 दिसंबर 1920 को पहली बार रायपुर आए थे बापू
  • कंडेल से असहयोग की प्रेरणा दी थी बापू ने : चौबे

By: Anupam Rajvaidya

Published: 24 Dec 2020, 12:33 AM IST

रायपुर. राष्ट्रपिता महात्मा गांधी 20 दिसंबर 1920 को पहली बार रायपुर आए थे। वे यहां कंडेल ग्राम (अब धमतरी जिले में) में नहर सत्याग्रह में शामिल हुए थे। गांधी जी का स्वागत रायपुर रेलवे स्टेशन पर छत्तीसगढ़ के स्वतंत्रता संग्राम सेनानी पं. रविशंकर शुक्ल, ठाकुर प्यारेलाल सिंह, पं. सखाराम दुबे, पं. वामनराव लाखे आदि ने किया था। गांधी जी को कलकत्ता से लेकर स्वतंत्रता सेनानी पं. सुंदरलाल शर्मा रायपुर पहुंचे थे।

ये भी पढ़ें...यूके से छत्तीसगढ़ आने वाले को रहना होगा 14 दिन होम आइसोलेट
गांधी जी के रायपुर आगमन के 100 साल होने पर बापू और छत्तीसगढ़ कार्यक्रम का आयोजन राजधानी के ब्राह्मणपारा स्थित आनंद समाज वाचनालय में 20 दिसंबर 2020 को किया गया। हरि ठाकुर स्मारक संस्थान रायपुर एवं साहित्य संगीत सांस्कृतिक मंच मुजगहन के तत्वावधान में आयोजित कार्यक्रम के बापू का स्वागत करने वाले स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के परिजनों का सम्मान किया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि कृषि मंत्री रविंद्र चौबे ने पं. वामनराव लाखे के परपोते आशीष लाखे सहित अन्य गणमान्यजनों को सम्मानित किया।
ये भी पढ़ें...आज से 100 साल पहले महात्मा गांधी ने छत्तीसगढ़ में रखे थे कदम
कृषि मंत्री रविंद्र चौबे ने कहा कि कंडेल नहर सत्याग्रह में शामिल होकर बापू ने देशवासियों को असहयोग की प्रेरणा दी थी। बता दें कि बापू ने आनंद समाज वाचनालय परिसर और गांधी मैदान में सार्वजनिक सभाओं को संबोधित किया था।
ये भी पढ़ें...छत्तीसगढ़ में तीन वर्षों में मारे गए 216 नक्सली : सरकार

Show More
Anupam Rajvaidya Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned