पेगासस स्पाइवेयर मामला: राजभवन तक पैदल मार्च निकालेगी छत्तीसगढ़ कांग्रेस

पेगासस स्पाइवेयर (Pegasus spyware) मामले का असर छत्तीसगढ़ में भी दिखाई दे रहा है। इस मुद्दे को लेकर कांग्रेस 22 जुलाई को राजभवन तक पैदल मार्च निकालेगी।

By: Ashish Gupta

Updated: 21 Jul 2021, 11:45 AM IST

रायपुर. पेगासस स्पाइवेयर (Pegasus spyware) मामले का असर छत्तीसगढ़ में भी दिखाई दे रहा है। इस मुद्दे को लेकर कांग्रेस 22 जुलाई को राजभवन तक पैदल मार्च निकालेगी। कांग्रेस की मांग है कि इस पूरे मामले की न्यायिक जांच की जाए और गृहमंत्री अमित शाह (Union Home Minister Amit Shah) इस्तीफा दें।

कांग्रेस का कहना है, पेगासस स्पाइवेयर को लेकर हुए खुलासे से पता चला है कि अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी व उनके कार्यालयीन कर्मचारियों का भी सेलफोन को भी हैक कर लिया गया। रिपोर्ट में कहा गया है कि स्पाइवेयर पेगासस का इस्तेमाल 2019 के संसद के आम चुनावों के दौरान सेल फोन को हैग करने के लिये भी किया जा रहा था।

पेगासस स्पाइवेयर और सभी एनएसओ उत्पाद एजेंसियों ने विपक्षी नेताओं, पत्रकारों, वकीलों और कार्यकर्ताओं के फोन हैक करने के लिये स्पाइवेयर खरीदा एवं दुरूपयोग कर प्रजातांत्रिक मूल्यों की हत्या किया है। इस मुद्दे को लेकर कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम बुधवार को एक पत्रकारवार्ता को भी संबोधित करेंगे।

अर्बन नक्सलियों के हाथ खेल रही कांग्रेस-विष्णुदेव साय
प्रदेश भाजपाध्यक्ष विष्णुदेव साय ने कथित फोन टैप प्रकरण पर कांग्रेस की प्रतिक्रया को सोची-समझी साजिश बताया है। उन्होंने कहा है कि इस प्रकरण को लेकर कांग्रेस जितनी जल्दबाजी में है, इससे यह प्रतीत होता है कि वह राष्ट्रविरोधी तत्वों, अराजकतावादियों और अर्बन नक्सल्स के हाथ में खेल रही है। साय ने कहा बिना सर-पैर के एक दो कौड़ी के कम्युनिस्ट संस्थान की रिपोर्ट को आधार बना कर देश में अराजकता पैदा करना चाहती है, इसकी जितनी निंदा की जाय वह कम है।

Show More
Ashish Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned