Pegasus से जासूसी कर रहीं सरकारें, सामने आई लिस्ट में छत्तीसगढ़ के भी इन चार लोगों के नाम

Pegasus Phone Tap: पेगासस साफ्टवेयर के जरिए जासूसी मामले में छत्तीसगढ़ से भी चार से अधिक नाम सामने आ रहे हैं। द वायर वेबसाइट के मुताबिक बस्तर के कार्यकर्ता शुभ्रांशु चौधरी, नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में कार्य करने वाली बेला भाटिया, और छत्तीसगढ़ बचाओ आंदोलन समिति के आलोक शुक्ला सहित अन्य का नाम शामिल हैं।

By: Ashish Gupta

Published: 21 Jul 2021, 11:52 AM IST

रायपुर. Pegasus Phone Tap: पेगासस साफ्टवेयर के जरिए जासूसी मामले में छत्तीसगढ़ से भी चार से अधिक नाम सामने आ रहे हैं। द वायर वेबसाइट के मुताबिक बस्तर के कार्यकर्ता शुभ्रांशु चौधरी, नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में कार्य करने वाली बेला भाटिया, और छत्तीसगढ़ बचाओ आंदोलन समिति के आलोक शुक्ला सहित अन्य का नाम शामिल हैं। वर्ष 2019 से इसकी निगरानी करने की जानकारी सामने आ रही है।

यह भी पढ़ें: पेगासस स्पाइवेयर मामला: राजभवन तक पैदल मार्च निकालेगी छत्तीसगढ़ कांग्रेस

बस्तर के सामाजिक कार्यकर्ता शुभ्रांशु चौधरी का कहना है कि यह युद्ध क्षेत्र में काम करते हैं। हम पर दोनों तरफ से नजर रखी जाती है, लेकिन सरकार से यह आशा नहीं थी। उनका कहना है कि यदि केंद्र सरकार कानूनी रूप से नजर रखें तो कोई बात नहीं, लेकिन दुखद है कि यदि कानून बनाने वाले खुद कानून तोड़ने लगे, तो उन्हें कौन बचाएगा।

उन्होंने कहा, हमारे पास छिपाने को कुछ नहीं है। हम तो शांति की बात करते हैं। छत्तीसगढ़ बचाओ आंदोलन समिति से जुड़े आलोक शुक्ला का कहना है, हम पर तो 2019 से नजर रखी जा रही है। वाट्सऐप ने तो हमें इसकी जानकारी भी दी थी। शुक्ला का दावा है कि छत्तीसगढ़ से छह से सात लोगों पर नजर रखी जा रही है।

यह भी पढ़ें: पेगासस जासूसी : छत्तीसगढ़ में काम कर रहे चार से अधिक लोगों की हो रही फोन टैपिंग

पेगासस स्पाइवेयर मामले का असर छत्तीसगढ़ में भी दिखाई दे रहा है। इस मुद्दे को लेकर कांग्रेस 22 जुलाई को राजभवन तक पैदल मार्च निकालेगी। कांग्रेस की मांग है कि इस पूरे मामले की न्यायिक जांच की जाए और गृहमंत्री अमित शाह इस्तीफा दें।

Show More
Ashish Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned