छत्तीसगढ़ के इस जिले में कहर बनकर टूट रहा कोरोना, एक महीने में 208 लोगों की मौत, 27 हजार संक्रमित

Rajnandgaon District में 26 हजार 841 पॉजिटिव मरीज और इनमें से 208 की जान लेकर अप्रैल का महीना चला गया। कोरोना की दूसरी लहर में अप्रैल ने पुराने सारे रिकार्ड तोड़ दिए और जमकर तांडव मचाया है।

By: Dakshi Sahu

Published: 02 May 2021, 03:33 PM IST

राजनांदगांव. राजनांदगांव जिले (Rajnandgaon District) में 26 हजार 841 पॉजिटिव मरीज और इनमें से 208 की जान लेकर अप्रैल का महीना चला गया। कोरोना (Coronavirus in chhattisgarh) की दूसरी लहर में अप्रैल ने पुराने सारे रिकार्ड तोड़ दिए और जमकर तांडव मचाया है। अप्रैल में रिकार्ड संख्या में टेस्ट भी हुए और संक्रमितों का आंकड़ा भी सर्वाधिक रहा। हाल यह रहा कि मार्च 2020 से लेकर मार्च 2021 तक जितने पॉजिटिव प्रकरण जिले में आए थे, अकेले अप्रैल 2021 ने उन सबको पीछे छोड़ दिया है।

Read more: अप्रैल में कोरोना ने मचाया ऐसा तांडव, सिर्फ दुर्ग जिले में 632 मरीजों की मौत, 46 हजार से ज्यादा संक्रमण की चपेट में ....

दूसरी लहर मचा रही जमकर तबाही
मौतों के मामले में भी अप्रैल 2021 ने बीते पूरे साल की बराबरी कर ली है। राजनांदगांव जिले में 30 अप्रैल तक की स्थिति में पॉजिटिव मरीजों का आंकड़ा 50 हजार के करीब पहुंच गया है। एक मई को यह आंकड़ा 50 हजार के पार भी कर गया। कोरोना संक्रमण की शुरुआत से लेकर अब तक की स्थिति का आंकलन करने पर साफ हो जा रहा है। सरकारी और आम लोगों की कोरोना के प्रोटोकाल की अनदेखी करने के चलते इसकी दूसरी लहर ने जमकर तबाही मचाई है।

372 दिन में थे ये आंकड़े
राजनांदगांव जिले में कोरोना का पहला मामला 25 मार्च 2020 को आया था। इसके बाद का अप्रैल के महीने में एक भी केस नहीं था। मई से केस बढऩे शुरु हुए और मार्च 2021 तक के 372 दिनों में जिले में 22 हजार 692 पॉजिटिव प्रकरण हो गए। इस अवधि तक 213 लोगों की मौत हुई थी। पॉजिटिव प्रकरणों में से 20 हजार 718 रिकवर हो गए थे और रिकवरी दर 91.30 था।

30 दिन ने मचा दिया तांडव
इस साल के शुरुआत में कोरोना के मामले कम होने लगे थे और कई-कई दिन तो दो अंकों में केस आए। कम होते कोरोना को देखते हुए लापरवाही बढ़ी और कोरोना फिर परवान चढऩे लगा। इस साल अप्रैल 2021 के 30 दिनों में ही जिले में 26 हजार 841 पाजिटिव केस आ गए। रिकवरी रेट इस महीने 73.41 प्रतिशत रहा और 19 हजार 706 लोग ठीक हुए। इस महीने 208 लोगों की जान कोरोना से चली गई।

सितम्बर था सबसे संक्रमित
अप्रैल 2021 ने पूरे साल भर के आंकड़ों को पीछे छोड़ दिया है लेकिन इससे पहले सबसे ज्यादा केस और मौत का मामला सितम्बर 2020 में दर्ज किया गया था। इस महीने 5 हजार 806 पाजिटिव केस आए थे और 60 की मौत हुई थी।

साढ़े चार लाख से ज्यादा जांच
राजनांदगांव जिले में अब तक साढ़े चार लाख से ज्यादा सैंपल की जांच हुई है। इसमें तीन लाख से ज्यादा एंटीजन जांच और करीब सवा लाख आरटी-पीसीआर जांच शामिल है। अकेले अप्रैल महीने में एक लाख 5 हजार 625 जांच हुई है।

Dakshi Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned