वैज्ञानिकों का दावा: समय रहते ग्लोबल वार्मिंग को किया जा सकता है कम

  • कार्बन डाइऑक्साइड कर सकती है मीथेन को कम करने में मदद
  • एक नए अध्ययन में वैज्ञानिकों ने किया दावा
  • कुछ गैसों को नहीं बदला जा सकता कार्बन डाइऑक्साइड

By: Deepika Sharma

Updated: 22 May 2019, 02:53 PM IST

नई दिल्ली। वैज्ञानिकों का मानना है कि समय रहते ग्लोबल वार्मिंग ( global warming ) को कम किया जा सकता है। इस बात का दावा स्टैनफोर्ड के वैज्ञानिकों ने किया है। उनका कहना है कि अगर मीथेन को कार्बन डाइऑक्साइड ( carbon dioxide )में परिवर्तित किया जाए तो ऐसा मुमकिन हो सकता है।

इन स्टूडेंट्स ने बना डाली ऐसी चीज ,जिसे लोग कर रहे काफी पसंद

बता दें कि नेचर ( nature ) सस्टेनबिलिटी जर्नल में एक छपे अध्ययन में कहा गया है कि वायुमंडल में कार्बन डाइऑक्साइड को जान-बूझकर छोड़ना थोडा़ अटपटा जरूर लग सकता है, लेकिन इसी की मदद से वायुमंडल में फैली मीथेन ( methane ) को कम किया जा सकता है। ऐसा करना जलवायु के लिए लाभदायक होगा।

global

वहीं अमरीका के स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी (university ) के शोधकर्ता के अनुसार 'अगर ये तकनीक ( tecnology) सफल रही तो इससे वायुमंडल में फैली मीथेन और अन्य गैसों को काफी हद तक कम किया जा सकता है।

वैज्ञानिकों ने बनाया ह्यूमन बर्ड की तरह फुर्तीला रोबोट ड्रोन, जानें खासियतें

कुछ गैसों जैसे- धान को जलाने से निकलने वली गैस और पशुओं के गोबर से निकलने वाली गैसों, को खत्म नहीं किया जा सकता, लेकिन वायुमंडल में फैली मीथेन गैस को खत्म किया जा सकता है।

 

graph

शोधकर्ताओं का कहना है कि वातावरण में औद्योगिक क्रांति से पहले के स्तर को बनाए बिना कार्बनडाइऑक्साइड को हटाना बहुत मुश्किल है, लेकिन मीथेन की सांद्रता को री-स्टोर किया जा सकता है।

भारतीय मॉनसून पर असर डालती है अटलांटिक महासागर में बढ़ रही गर्मी: अध्ययन

शोध के अनुसार- इससे पहले 2018 में इंसानी संसाधनों के अधिक उत्सर्जन से 60 फीसदी मीथेन गैस वायुमंडल तक पहुंची।

 

 

Show More
Deepika Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned