सावधान! चमकदार सब्जियों से हो सकता है 'कैंसर', जानिए कैसे बच सकते हैं इस बड़े खतरे से

  • ज्यादा मुनाफे के चक्कर में किसान करते हैं मिलावट
  • हर चमकदार सब्जी पौष्टिक नहीं हो सकती

नई दिल्ली: आज के दौर में बीमारियां इतनी हो गई हैं कि कब कौन गंभीर बीमारी का शिकार हो जाए, कुछ कहा नहीं जा सकता। लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि ये बीमारियां आती कहां से है? अगर नहीं तो आपको बता दें कि इनके पनपने का एक कारण चमकदार सब्जियां ( Vegetables ) भी होती हैं। चौंकिए मत, क्योंकि जो आप चमकदार सब्जियां बाजार से खरीदकर अपने घर लाते हैं वो आपके स्वास्थ्य के लिए हानिकारक भी हो जाती हैं।

veg1.png

पहले ‘डेटिंग’ फिर ‘डिप्रेशन’ और अब ‘शादी’ की खबर, जानिए क्या नेहा कक्कड़ की आदित्य नारायण से होगी शादी

ऐसे होता है सेहत से खिलवाड़

दरअसल, किसान ( Farmer ) को फसलों का सही दाम नहीं मिल पाता। ऐसे में वो ज्यादा मुनाफा कमाने के कारण अधिक उत्पादन करता है, जिसके लिए वो रसायनों का अंधाधुंध इस्तेमाल कर रहे हैं। ऐसा करने से सब्जियों में चमक और सुंदरता तो बढ़ जाती है, लेकिन सब्जियां बेस्वाद और सुगंधहीन हो जाती है। ऐसे में ये सब्जियां स्वास्थय के लिए बेहद हानिकारक भी हो जाती हैं। सब्जी बेचने वाले भी सब्जियों को उन्हीं के रंग वाली लाइट के नीचे रखते हैं ताकि वो ज्यादा चमकें और लोग उन्हें ज्यादा खरीदें। यही नहीं कुछ सब्जियों जैसे शिमला मिर्च, सेब आदि पर मोम की परत भी लगाई जाती है।

veg2.png

ऐसे बच सकते हैं

जिन सब्जियों को दुकानदार लाइट में रखते हैं, उन्हें लाइट से दूर हटाकर आप देख सकते हैं। इससे उसका असली रंग दिखाई देगा। वहीं जिन सब्जियों पर मोम की परत लगी होती है, उन्हें आप चाकू या चम्मच की मदद से हटा सकते हैं। यही नहीं कुछ देर गर्म पानी में रखने से सब्जियों पर से मोम की परत हट जाती है। वहीं जैसे मटर के दानों पर भी रंग चढाया जाता है। ऐसे में आप मटर के दानों को कुछ देर गर्म पानी में रख देना चाहिए, जिससे उनका रंग अलग हो जाए। ये हानिकारक रंग कैंसर का खतरा बन सकता है। जो सब्जियां ज्यादा चमकदार हो जरूरी नहीं कि वो पौष्टिक हो बल्कि, ये सब्जियां बड़ी बीमारी की जड़ भी बन सकती है।

Show More
Prakash Chand Joshi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned