scriptएक लाख श्रद्धालु आएं तो भी आधा घंटे में हो जाएंगे महाकाल के दर्शन | Mahakal darshan will be done in half an hour | Patrika News
उज्जैन

एक लाख श्रद्धालु आएं तो भी आधा घंटे में हो जाएंगे महाकाल के दर्शन

महाशिवरात्रि से पहले महाकाल पथ से ही मिलेगी एंट्री
 

उज्जैनJan 27, 2022 / 09:07 am

deepak deewan

mahakal_darshan.jpg

उज्जैन. महाकाल मंदिर का परिसर नया आकार ले रहा है. महाकाल मंदिर को काशी विश्वनाथ कॉरिडोर की तरह विकसित किया जा रहा है. नई व्यवस्था में लाखों श्रद्धालुओं के आने पर भी महज आधा—पौन घंटे में महाकाल बाबा के दर्शन करा दिए जाएंगे. परिसर में भक्त टूरिस्ट की तरह घंटों घूम पाएंगे. मंदिर में दर्शन—पूजन करने आनेवाले भक्तों को महाशिवरात्रि से पहले ही महाकाल पथ से ही एंट्री दी जाएगी.

महाकाल को काशी विश्वनाथ कॉरिडोर की तरह रूप देने के लिए महाकाल विस्तार प्रोजेक्ट चल रहा है. इसमें महाकाल पथ, महाकाल वाटिका, रूद्रसागर तट का विकास कार्य शामिल है. 705 करोड़ रुपए के इस प्रोजेक्ट में परिसर की तस्वीर पूरी तरह बदल जाएगी. महाकाल परिसर 2 से बढ़कर 20 हेक्टेयर में फैल जाएगा.

यह भी पढ़ें : संक्रमण के पहले ही मिल जाते हैं ये संकेत, दिखते ही सतर्क हो जाएं तो नहीं होगा कोरोना

खास बात यह है कि इससे महाकाल मंदिर परिसर काशी विश्वनाथ कॉरिडोर से करीब चार गुना बड़ा हो जाएगा. गौरतलब है कि काशी विश्वनाथ कॉरिडोर करीब 5 हेक्टेयर क्षेत्र में विकसित हुआ है. इसके अंतर्गत पहले चरण के कामों को अंतिम रूप दिया जा रहा है. पहले चरण का यह काम महाशिवरात्रि से पहले पूरा हो जाएगा.

यह भी पढ़ें : शनिवार और इतवार को भी खुलेंगे सरकारी कार्यालय, दो माह की सभी छुट्टियां केंसिल

mahakal.jpg

प्रोजेक्ट पूरा होने से कई सुविधाएं मिलेंगी. सबसे बड़ी सुविधा ये होगी कि महाकाल के दर्शन बहुत आसान हो जाएंगे. न केवल भीड़ से निजात मिलेगी बल्कि समय भी बहुत कम लगेगा. परिसर में कई स्थान विकसित हो रहे हैं जिससे घूमने का समय मिलेगा. इस तरह महाकाल दर्शन के साथ लोग धार्मिक पर्यटन भी कर पाएंगे.

यह भी पढ़ें : कोरोना का खतरनाक साइड इफेक्ट, हर तीसरा बच्चा प्रभावित, जानिए क्या कह रहे डॉक्टर्स

अब यहां परिसर में ही ठहरने, आराम करने की तमाम सुविधाएं होंगी. कलेक्टर आशीष सिंह के अनुसार पहले चरण का काम महाशिवरात्रि से पहले पूरा हो जाएगा. दूसरे चरण का काम अगले साल मई-जून तक पूरा कर लेंगे. जब दूसरा चरण भी पूरा हो जाएगा तो हर घंटे एक लाख श्रद्धालु महाकाल के दर्शन कर सकेंगे. भक्तों की इतनी भीड़ होने के बावजूद दर्शन में महज 30 से 45 मिनट लगेंगे.

यह भी पढ़ें :ओमिक्रोन का ये है सबसे पहला लक्षण, दिखे तो तुरंत हो जाएं सावधान

बिना किसी रुकावट के महाकाल के दर्शन की ये सुविधा अधिक लोगों को यहां आने के लिए प्रेरित करेगी. परिसर में 18 करोड़ रुपए की लागत से श्रद्धालु सुविधा केंद्र भी बन रहा है.

यह भी पढ़ें: वेक्सीन लगवानेवालों पर भी बढ़ा खतरा, दिखें ये लक्षण तो हो जाएं सावधान

विशेष बात यह है कि कुल दो चरणों के इस काम के पहले एक चरण का काम हर हाल में महाशिवरात्रि पर पूरा हो सके, इसके लिए खुद CM शिवराज सिंह चौहान लगातार फीडबैक ले रहे हैं.

Hindi News/ Ujjain / एक लाख श्रद्धालु आएं तो भी आधा घंटे में हो जाएंगे महाकाल के दर्शन

ट्रेंडिंग वीडियो