तीन साथियों के साथ मिल कर किया इतना बड़ा अपराध, सिर पर हो गया 50 हजार का इनाम

तीन साथियों के साथ मिल कर किया इतना बड़ा अपराध, सिर पर हो गया 50 हजार का इनाम

Devesh Singh | Publish: Nov, 05 2018 06:30:18 PM (IST) | Updated: Nov, 05 2018 06:30:19 PM (IST) Varanasi, Uttar Pradesh, India

गर्लफ्रेंड ने उकासाया तो जोड़ लिया जरायम की दुनिया से नाता, कानून का कसा शिकंजा तो याद आया अपना अपराध

वाराणसी. तीन साथियों के साथ मिल कर इतना बड़ा अपराध किया कि सिर पर 50 हजार का इनाम घोषित हो गया। गर्लफ्रेंड ने उकसाया तो देश में अपनी तरह की पहली घटना को अंजाम देते हुए जरायम की दुनिया से ही नाता जोड़ लिया। क्राइम ब्रांच व पुलिस ने पकड़ा तो अपना अपराध याद आ गया। पिता भी बेटे की जान बचाने के लिए गुहार लगाता रहा।
यह भी पढ़े:-जानिए कौन है भगवान धन्वंतरि, इसलिए दीपावली से पहले होती है पूजा

आमतौर पर पुलिस उन्ही अपराधियों पर इनाम घोषित करती है जो लगातार क्राइम करते रहते हैं या फिर इतनी बड़ी घटना को अंजाम दे देते हैं कि पुलिस को पकडऩे के लिए इनाम रखना पड़ता है। देश में अभी तक किसी मॉल में जाकर ताबड़तोड़ फायरिंग कर दो लोगों की हत्या नहीं की गयी थी लेकिन पीएम नरेन्द्र मोदी के संसदीय क्षेत्र बनारस में जेएचवी मॉल में जिस तरह से चार बदमाशों ने ताबड़तोड़ फायरिंग कर दो लोगों को मौत के घाट उतारा था उससे सीएम योगी आदित्यनाथ तक नाराज हो गये थे और वीडियो कांफ्रेंसिंग में फरार अपराधियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने का निर्देश दिया था। पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों ने फरार चारों बदमाशों के सिर पर पहले २५-२५ हजार का इनाम रखा था बाद में इस धनराशि को बढ़ा कर पचास हजार कर दिया गया। क्राइम ब्रांच व पुलिस ने दो बदमाशों को पकड़ लिया है जबकि अभी भी दो बदमाश फरार हैं।
यह भी पढ़े:-JHV मॉल डबल मर्डर केस, क्राइम ब्रांच व पुलिस ने मुख्य आरोपी को किया गिरफ्तार

आलोक उपाध्या की गर्लफ्रेंड ने उकासाया तो साथियों के साथ घटना को दिया अंजाम
काशी विद्यापीठ के छात्र आलोक उपाध्याय की गर्लफ्रेंड की बहन जेएचवी मॉल में काम करती थी। गर्लफ्रेंड की बहन की नौकरी चली जाती है तो वह आलोक से नौकरी लेने वालों पर बदला लेने का दबाव बनाती है। आलोक अपने दो साथियों ऋषभ व कुंदन के साथ आईपी मॉल जाता है। आलोक जब पकड़ा जाता है तो उसे छुड़ाने के लिए ऋषभ व कुंदन ने ताबड़तोड़ फायरिंग की थी जिसमे दो लोगों की मौत हो गयी थी जबकि दो लोग घायल हो गये थे। इसके बाद पुलिस ने चार बदमाशों में से आलोक व रोहित का पकड़ लिया है जबकि ऋषभ व कुंदन दोनों ही अभी फरार है।
यह भी पढ़े:-कभी पांच लाख के इनामी रहे बृजेश सिंह के करीबी त्रिभुवन सिंह अस्पताल में भर्ती

एनकाउंटर का सताया डर तो कोर्ट में सरेंडर करने निकला था आलोक
दूसरे के परिवार का चिराग बुझाने वाले बदमाशों को जब पुलिस एनकाउंटर का डर सताया तो जिंदगी की कीमत समझ आयी। पिता के साथ कोर्ट में सरेंडर करने जा रहे आलोक को पुलिस ने कैंट रेलवे स्टेशन पर पकड़ लिया। इसके बाद पिता ने पुलिस पर एनकाउंटर करने की साजिश रचने का आरोप लगाते हुए थाने में हंगामा भी किया था बाद में पुलिस ने आलोक की गिरफ्तारी को दिखा दिया है और अज्ञात स्थान पर पूछताछ कर अन्य साथियों की जानकारी लेने में जुटी है।
यह भी पढ़े:-प्रवासी सम्मेलन से पहले ताबड़तोड़ क्राइम से बैकफुट पर सीएम योगी आदित्यनाथ सरकार

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned