पीएम मोदी ने देश की पहली इस योजना से साधा 50 संसदीय सीट, ममता बनर्जी व महागठबंधन को झटका

पीएम मोदी ने देश की पहली इस योजना से साधा 50 संसदीय सीट, ममता बनर्जी व महागठबंधन को झटका

Devesh Singh | Publish: Nov, 10 2018 07:17:22 PM (IST) | Updated: Nov, 10 2018 07:17:23 PM (IST) Varanasi, Uttar Pradesh, India

लोकसभा चुनाव 2019 के पहले बीजेपी को मिलेगी राहत, व्यापारियों से लेकर आम नागरिकों को होगा बड़ा लाभ

वाराणसी. पीएम नरेन्द्र मोदी लोकसभा चुनाव 2019 से पहले एक और मास्टर स्ट्रोक खेलने जा रहे हैं। पीएम नरेन्द्र मोदी ने देश की इस पहली योजना के साथ यूपी, बिहार व पश्चिम बंगाल की 50 संसदीय सीट को साध लिया है, जिसके चलते राहुल गांधी, अखिलेश, मायावती के महागठबंधन के साथ सीएम ममता बनर्जी को झटका लग सकता है।
यह भी पढ़े:-अखिलेश यादव ने भगवा पगड़ी बांध कर बीजेपी को दिया तगड़ा झटका, उमड़ी इतनी भीड़ की शिवपाल यादव की उड़ जायेगी नीद

Water Transport
IMAGE CREDIT: Patrika

पीएम नरेन्द्र मोदी 12 नवम्बर को मल्टी मॉडल टर्मिनल का उद्घाटन करने जा रहे हैं। देश में अपनी तरह ही पहली यह योजना है जिसमे हल्दिया (पश्चिम बंगाल) से बनारस से तक गंगा नदी में जलपरिवहन होगा। सड़क व रेलवे से तीन गुना कम दर पर माला भाड़ा की ढुलाई लगेगी। रामनगर टर्मिनल से 20 हजार से अधिक लोगों को सीधे रोजगार मिलेगा। इसके अतिरिक्त हदिल्या से बनारस तक एक लाख से अधिक लोग अप्रत्यक्ष रुप से रोजगार पायेंगे। इस योजना में विश्व बैंक आर्थिक सहायता दे रहा है और विश्व बैंक ने रोजनगार को लेकर इस योजना की तारीफ भी की है। लोकसभा चुनाव 2019 के पहले पीएम मोदी की यह योजना बीजेपी के लिए गेम चेंजर साबित हो सकती है।
यह भी पढ़े:-पहली बार हुआ ऐसा, गंगा के इस पार अखिलेश तो दूसरे पार पहुंचे सीएम योगी आदित्यनाथ

जानिए कैसे 50 संसदीय सीट पर साधा गया समीकरण
अनुमान के मुताबिक बनारस से हल्दिया तक गंगा नदी ५० संसदीय सीट से होकर गुजरेगी। इन सीटों के निवासी को रोजगार मिलेगा तो बीजेपी को सीधा फायदा मिलेगा। जल परिवहन के साथ पर्यटन भी जुड़ेगा और गंगा किनारे वालों की आर्थिक स्थिति अच्छी होगी। बीजेपी सरकार पर बेरोजगारों की संख्या बढ़ाने का आरोप लगता है ऐसे में रोजगार बढऩे से बीजेपी को फायदा मिलेगा। जिसका सीधा असर लोकसभा चुनाव २०१९ में पड़ सकता है।
यह भी पढ़े:-अखिलेश यादव ने दी है तीन चुनौती, सीएम योगी आदित्यनाथ दे पायेंगे जवाब

ममता बनर्जी के साथ महागठबंधन की बढ़ जायेगी परेशानी
पीएम नरेन्द्र मोदी की इस योजना से पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के साथ महागठबंधन की परेशानी बढ़ जायेगी। विरोधी दल अभी तक बीजेपी पर विकास नहीं करने का आरोप लगाते आये हैं ऐसे में बीजेपी देश की पहली इस योजना को रोजगार के साथ जोड़ेगी तो विरोधी दल की बात का जनता पर अधिक असर नहीं होगा। ऐसा होने पर बीजेपी को चुनाव में सबसे अधिक फायदा हो सकता है।
यह भी पढ़े:-चाची को नहाते देख कर बिगड़ गयी थी नीयत, रेप करने के बाद की हत्या, पति को जाकर सबसे पहले दी सूचना

Ad Block is Banned