Scholar Badge Ceremony में सम्मान मिला तो खुशी से झूम उठे मासूम

शिक्षा के क्षेत्र में अव्वल रहने वाले विद्यार्थियों को मेडल, ट्राॅफी, सर्टिफिकेट आदि देकर सम्मानित किया गया।

By: धीरेंद्र यादव

Published: 09 Dec 2017, 07:12 PM IST

अलीगढ़। बच्चों की शैक्षणिक उत्कृष्टता के आधार पर शनिवार को डीपीएस सीनियर विंग व जूनियर विंग ने संयुक्त रूप से मेधावियों को सम्मानित किया। आगरा रोड़ स्थित दिल्ली पब्लिक स्कूल सीनियर विंग में 'स्कॉलर बैज सेरेमनी' का अयोजन किया गया। यहां शिक्षा के क्षेत्र में अव्वल रहने वाले विद्यार्थियों को मेडल, ट्राॅफी, सर्टिफिकेट आदि देकर सम्मानित किया गया। वहीं पूरे वर्ष शत-प्रतिशत उपस्थित रहने वालों छात्र भी इस सम्मान का हिस्सा बने। इस समारोह में उनके अभिभावक भी उपस्थित थे।

ये थे मुख्य अतिथि
समारोह के मुख्य अतिथि व हाथरस के डीएम अमित कुमार सिंह, अलीगढ़ के सीडीओ दिनेश चंद, मंगलायतन विश्वविद्यालय के वाइस चांसलर डाॅ ब्रिगेडियर पीएस सिवाच, डीपीएस की प्रिंसिपल रश्मि ग्रोवर, वाइस प्रिंसिपल शरद अग्रवाल व हेड मिस्ट्रेस भावना भारद्वाज ने दीप प्रज्जवलन कर 'स्कॉलर बैज सेरेमनी' का शुभारंभ किया। मुख्य अतिथि ने लगातार पांच से आठ साल तक टाॅप करने वाले विद्यार्थियों को सम्मनित किया। सीडीओ दिनेश चंद ने लगातार दो से चार साल तक टाॅप करने वाले विद्यार्थियों को सम्मानित किया व इसी सत्र में शिक्षा के क्षेत्र में शानदार प्रदर्शन करने वाले सैकड़ों विद्यार्थियों को पीएस सिवाच व विद्यालय की एकेडमिक डाॅयरेक्टर उदिता गांगुली ने सम्मानित किया।

इन छात्रों को मिली चेयरमैन ट्राॅफी
समारोह के अंत में मुख्य अतिथि व प्रिंसिपल ने लगातार दस साल से स्कूल में टाॅप करने वाले छात्र का चेयरमैन ट्राॅफी देकर उत्साहवर्धन किया और पिछले सत्र में बारहवीं में टाॅप करने वाली छात्रा विभूति भारद्वाज को भी ट्राॅफी देकर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम के दौरान स्कूल के नृत्यकला विभाग के विद्यार्थियों की ओर से असत्य पर सत्य की जीत नामक सुंदर नृत्य नाटिका के माध्यम से रामायण के कुछ अंश का मंचन किया। इधर डीपीएस जूनियर विंग के बच्चों ने भी नृत्य व संगीत के माध्यम से खूब वाह वाही लूटी।

न हों निराश
मुख्य अतिथि ने कहा कि वे सभी सम्मान के हकदार हैं जो इस दौड़ में शामिल होने वाले हैं या शामिल होने का मानस बना रहे हैं। जिन्हें अवार्ड नहीं मिला उन्हें निराश ना होकर प्रोत्साहित होना चाहिए कि आने वाली एक्सीलेंस लिस्ट में उनका भी नाम दाखिल हो। अनुशासन व एकाग्रता ही एक सामान्य बालक को विशिष्ट छात्र बनाते हैं। सीडीओ दिनेश चंद ने कहा कि बच्चे शिक्षक व अभिभावकों के संतुलित सहयोग से ही बेहतर प्रदर्शन कर पाते हैं। आज जिन्हें सम्मानित किया जा रहा है, उनके सम्मान में अभिभावकों का भी सम्मान निहित है।

Show More
धीरेंद्र यादव
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned