नेहरू-गांधी परिवार की वजह से देश-विदेश में जानी जाती है अमेठी: अमित शाह

नेहरू-गांधी परिवार की वजह से देश-विदेश में जानी जाती है अमेठी: अमित शाह
BJP President Amit Shah

Shatrudhan Gupta | Updated: 11 Oct 2017, 08:39:13 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

प्रदेश की राजनीतिक गलियारे में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के एक बयान को लेकर चर्चा तेज है।

अमेठी. प्रदेश की राजनीतिक गलियारे में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के एक बयान को लेकर चर्चा तेज है। दरसअल, मंगलवार को अमेठी में आयोजित जनसभा में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कहा था कि अमेठी अगर देश और विदेश में जानी जाती है तो उसकी वजह गांधी परिवार है। उन्होंने कहा कि अमेठी हमेशा सुर्खियों में रहती है तो इसकी देन गांधी परिवार है। हालांकि, बाद में उन्होंने यह कहते हुए अपनी बातों से पलटी मारी कि अमेठी की बदहाली के लिए गांधी परिवार जिम्मेदार है। उन्होंने कहा कि अमेठी में विकास हुआ ही नहीं। शाह ने आगे कहा कि अमेठी का राहुल गांधी ने विकास नहीं, बल्कि बंटाधार किया है।

अमेठी की जनता बोली- यहां का विकास नेहरू-गांधी परिवार की देन

अमेठी की जनता का कहना है कि अमेठी में जो भी विकास हुआ है वह नेहरू गांधी परिवार की देन है। यहां जितनी भी परियोजनाएं और योजनाएं आई हैं वह नेहरू गांधी परिवार की वजह से है। साथ ही स्थानीय लोगों ने कहा कि यहां पर जो भी बड़े नेता आते हैं वह भी नेहरू परिवार का ही देन है। एक समय था, अमेठी में सड़कंे नहीं थीं। चलने के लिए बस और ट्रेन नही थीं, लेकिन आज अगर अमेठी में सड़क, ट्रेन, बस आदि की सुविधाएं हैं तो उसकी देन भी गांधी परिवार है। एक समय था की गली-कूचों में आदमी खड़ा नहीं हो सकता था और संजय गांधी के चुनाव जीतते ही अमेठी में सब कुछ बदलने लगा और अमेठी में सड़क से लेकर मूलभूत सुविधाएं मिलने लगीं।

अमेठी का विकास गांधी परिवार की देन

वरिष्ठ कांगे्रसी नेता जगदीश पीयूष ने कहा कि 1977 में जब चुनाव हुआ और अमेठी से 20 किलोमीटर दूर कोहरा महमदपुर के रविंद्र सिंह संजय गांधी को चुनाव हरा कर जीत हासिल की और सिंह अमेठी से सांसद हो गए, उस समय का दौरा इस कदर था कि सिंह की फोटो देश-विदेश में भी देखी जाने लगी थी। आखिर अमेठी का यह कौन सा शख्स है, जिसने नेहरु गांधी परिवार के लाडले को चुनाव हरा दिया। वहीं जब दुबारा चुनाव हुआ और फिर अमेठी की जनता ने गांधी परिवार से ही अपना सांसद चुना। उसके बाद अमेठी में विकास का काम जोरों सोरो से शरू हुआ। जगदीश पीयूष बताते हैं, आज अमेठी में जो कुछ भी है वह नेहरू-गांधी परिवार की ही देन है।

'2019' में भी नहीं गलेगी दाल

पीयूष ने बताया कि अमेठी में एएचएल और बीएचएल है। इंदिरा गांधी उड़ान केंद्र है, इस तरह की तमाम ऐसी योजनाएं हैं, जो नेहरू गांधी परिवार ने ही दिया है। बीजेपी के दिग्गजों से जानना चाहते हैं कि उनके भी क्षेत्र में क्या इतना कुछ है, जो हमारे अमेठी में है। बीजेपी सांसद बता दें कि एक भी जिले में इतनी फैक्ट्रियां और इतनी सुविधाएं हैं। हालांकि अमेठी मैं विकास हुआ है। यहां जो भी नेता आता है, चाहे वो स्मृति ईरानी हो चाहे अमित शाह। इनसे केवल अमेठी की जनता को लुभावने और झूठे वादों के अलावा अब तक कुछ नहीं मिला है। जगदीश पीयूष ने कहा कि मंच से अमित शाह ने कहा है, अमेठी अगर देश-विदेश में जानी जाती है तो वो नेहरू गांधी परिवार की ही देन है तो उन्होंने बिल्कुल सही कहा है और इसका मतलब उनको इसका अहसास भी है कि गांधी परिवार के इस गढ़ में 2019 के चुनाव में भी उनकी दाल नहीं गलने वाली है।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned