रामगंगा ने बरपाया कहर, सैकड़ों बीघा जमीन डूबी

Amit Sharma | Publish: Sep, 10 2018 03:31:21 PM (IST) Mathura, Uttar Pradesh, India

रामगंगा नदी मीरगंज तहसील के खादर के गांव गोरा हेमराजपुर के करीब पहुँच गई है और नदी ने इलाके में कटान करना शुरू कर दिया है।

बरेली। मीरगंज तहसील में इन दिनों रामगंगा नदी कहर बरपा रही है। रामगंगा नदी में किसानों की सैकड़ों बीघा जमीन डूब गई है। रामगंगा नदी मीरगंज तहसील के खादर के गांव गोरा हेमराजपुर के करीब पहुँच गई है और नदी ने इलाके में कटान करना शुरू कर दिया है। नदी आबादी से महज पांच मीटर की दूरी पर बह रही है। इससे ग्रामीणों में खौफ है। उन्होंने मकान खाली करना शुरू कर दिए है। मौके पर पहुँचे एसडीएम राजीव यादव ने बाढ़ खंड के अधिकारियों को राहत एवं बचाव कार्य के निर्देश दिए है।

यह भी पढ़ें- दुल्हन की विदा कराकर जा रही थी बस, रास्ते में हुआ ऐसा हादसा जिसे सुनकर कांप गई सभी की रूह, देखें वीडियो

सैकड़ों बीघा जमीन समाई

रामगंगा नदी जिस वेग से कटान कर रही है उससे लोगो में दहशत बढ़ती जा रही है। नदी कई दिनों से आबादी की ओर कटान कर रही थी। सूचना प्रशासन को दी लेकिन किसी अधिकारी ने मौके पर आकर देखने की जहमत नहीं की अब जब रामगंगा नदी ने किसानों की उपजाऊ जमीन का कटान शुरू कर दिया है जिससे सैकड़ो बीघा जमीन नदी में समा गई है तब जाकर प्रशसन के अधिकारी गाँव में पहुंचे है। गाँव में कई मकान भी नदी में कटान की वजह से समा गए है। ग्रामीण अजय का कहना है कि रामगंगा नदी से काफी नुकसान हुआ है लेकिन अभी तक प्रशासन ने उन्हें कोई मुआवजा नही दिया है।

डीएम ने अफसरों को दिए निर्देश

वहीं जिले के जिलाधिकारी वीरेंद्र कुमार सिंह का कहना है कि बारिश और बाढ़ को देखते हुए सभी एसडीएम व अन्य विभागों के अधिकारीयों को सतर्क किया गया है और बाढ़ व कटान को रोकने के उपाय किये जा रहे है साथ ही जिन लोगो का नुक्सान हुआ है उन्हें आर्थिक मदद की बात भी प्रशासन कर रहा है।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned