शोषित वर्ग की आवाज बने थे कुम्भाराम आर्य

किसान नेता व चूूरू के प्रथम विधायक चौधरी कुंभाराम आर्य का जयंती वीर तेजा मंदिर में उत्साह के साथ मनाई। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए हुसैन सैय्यद ने कहा कि आर्य ने हमेशा किसानों के हित के लिए संघर्ष किया है।

By: Rakesh gotam

Published: 10 May 2017, 10:31 PM IST

किसान नेता व चूूरू के प्रथम विधायक चौधरी कुंभाराम आर्य का जयंती वीर तेजा मंदिर में उत्साह के साथ मनाई। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए हुसैन सैय्यद ने कहा कि आर्य ने हमेशा किसानों के हित के लिए संघर्ष किया है। वे हमेशा शोषित वर्गकी आवाज बने और उन्होंने गांव, गरीब व किसान के कल्याण के लिए अनेक कदम उठाए।



मुख्य वक्ता प्रो.एचआर इसराण ने कहा कि आर्य ने जनहित के लिए कई नियमों को बदला। उनके योगदान के कारण ही राजस्थान के किसानों को जमीन का मालिकाना हक मिला। दलीप सरावग ने उनके विधायक कार्यकाल में किए कार्यों के बारे में बताया।  इस मौके पर हनुमानाराम कड़वासरा, घनश्याम शर्मा, रामावतार भाम्बू, राजेन्द्र सुण्डा,  हेमंत सिहाग,  विकास मील,  हुणताराम, राजेन्द्र कस्वा, अमरसिंह, सुबेसिंह, हरफूलसिंह बेरवाल, जंगशेर खान पीथीसर, बहादुरसिंह लाम्बा, महेश ढूकिया, सुरेश सारण ने भी विचार व्यक्त किए। किशनाराम बाबल ने आभार जताया। संचालन भंवरलाल कस्वा ने किया। कार्यक्रम के अंत में सहनाली छोटी के दिवंगतो को श्रद्धांजलि दी गई।



तारानगर. राजस्थान किसान यूनियन ने  एसडीएम कार्यालय के आगे किसान नेता  चौ. कुम्भाराम आर्य की  जयंती प्रधान जयसिंह मेघवाल की अध्यक्षता में मनाई। किसानों ने  आर्य के चित्र के समक्ष माल्यार्पण किया।  यूनियन के जिलाध्यक्ष अर्जुनलाल धेतरवाल ने कहा कि चौ. कुम्भाराम आर्य किसानों केे मसीहा थे। उन्होंने जीवन भर किसानों के हितों के लिए कार्य किए। आजादी के आंदोलन में सक्रिय भूमिका निभाने वाले  आर्य ने किसानों को खेतों का मालिकाना हक दिलवाने के लिए भी  संघर्ष किया। कार्यक्रम को तारानगर ब्लॉक अध्यक्ष जयसिंह मेघवाल, राजगढ तहसील अध्यक्ष बनवारीलाल सूणिया, दानाराम मेघवाल, सुभाष जांगिड़, जयसिंह राठौड़, जयसिंह सहारण, केशूराम सैनी, दारासिंह ने भी संबोधित किया। संचालन रामनिवास खिवड़ ने किया। कार्यक्रम में चन्द्रशेखर शौर्य, मुकेश देहडू., पटेल पूनिया, हेमराज राहड़, बसंत सिहाग, करणीसिंह गौड़, काशीराम सहारण, जीवणराम रणवा, चुन्नीराम सहारण, गोविंदराम मेघवाल, संदीप सहारण, जयसिंह, राजेश सिहाग, गजानंद चारण, राकेश नाई आदि अनेक किसान मौजूद थे। कार्यक्रम में नहर आंदोलन के आगे की रणनीति तैयार की गई।



कार्यक्रम में प्रत्येक गांव में 25 सक्रिय सदस्यों की टीम गठित करने, 29 मई को नई दिल्ली में किसान घाट पर पूर्व प्रधानमंत्री चौ. चरणसिंह की पुण्यतिथि कार्यक्रम में भाग लेने तथा नहर व किसान आंदोलन में राष्ट्रीय नेताओं का सहयोग लेने का निर्णय लिया गया। वार्ड 16 में  चौ. कुम्भाराम आर्य की जयंती मनाई गई। कार्यक्रम में युवाओं ने चौ. कुम्भाराम आर्य को याद कर नहर आंदोलन में सक्रिय भूमिका निभाने का संकल्प लिया। कार्यक्रम में प्रभुदयाल सहारण, परमेश्वर पारीक, साहिल सहू, कृष्ण सोलंकी, जोगेन्द्र बेरवाल, अनिल, सुनील ऐचरा, सुभाष सहारण आदि  मौजूद थे।  



सरदारशहर. चौधरी कुंभाराम आर्य विचार मंच की ओर से बुधवार को किसान छात्रावास में चौधरी कुंभाराम आर्य की जयंती मनाई गई। बीरबल सिद्ध की जयंती में हुए जयंती कार्यक्रम में डेयरी के अध्यक्ष लालचंद मूंड, हीरालाल बेनीवाल, मंच अध्यक्ष एडवोकेट महेंद्र सींवर, चुन्नीलाल मेघवाल, रतनलाल स्वामी, केशरदेव कस्वां, भानीराम झाझडिय़ा, ओमप्रकाश चौधरी, पूर्व उप प्रधान ताराचन्द सारण आदि ने चौधरी के चित्र पर श्रद्धासुमन अर्पित कर उन्हें याद किया।

Rakesh gotam Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned