वन विभाग ने नामी किराना दुकान में छापा मारा तो कछुआ खाल, इंद्रजाल जैसे समुद्री पौधे देखकर दंग रह गए

वन विभाग ने नामी किराना दुकान में छापा मारा तो कछुआ खाल, इंद्रजाल जैसे समुद्री पौधे देखकर दंग रह गए

Satyanarayan Shukla | Publish: Sep, 13 2018 12:27:45 AM (IST) Durg, Chhattisgarh, India

गांधी चौक स्थित हनुमान लाला किराना और जड़ी बूटी बिक्री केन्द्र से वन विभाग के अफसरों ने कछुआ खाल समेत हाथी दांत चूर्ण और समुद्रीय पौधे जब्त किया है।

दुर्ग. गांधी चौक स्थित हनुमान लाला किराना और जड़ी बूटी बिक्री केन्द्र से वन विभाग के अफसरों ने कछुआ खाल समेत हाथी दांत चूर्ण और समुद्रीय पौधे जब्त किया है। विभाग के अधिकारियों ने बुधवार को इस दुकान में छापामार कर इन सामानों की जब्ती बनाई। यह कार्रवाई डीएफओ धम्मशील गणवीर के उपस्थित में की गई। वन विभाग ने दुकान संचालक के खिलाफ वन्य जीव अधिनियम के तहत प्रकरण दर्ज किया है।

हनुमान लाला की दुकान में प्रतिबंधित सामानों की बिक्री
डीएफओ धम्मशील ने बताया कि वन विभाग को सूचना मिली थी कि हनुमान लाला की दुकान में प्रतिबंधित सामानों की बिक्री की जाती है। इसमें हाथी दांत से बने चूर्ण से लेकर कछुआ खाल और माया जाल, इंद्रजाल जैसे समुद्री पौधे शामिल हैं। इसी सूचना के आधार पर दुकान संचालक को पहले नोटिस दिया। इसके बाद जांच शुरू की गई। जांच के में मात्रा में प्रतिबंधित सामानों को जब्त किया है।

जांच के लिए भेजा जाएगा देहरादून
डीएफओ ने बताया कि जब्त सामान को वन्य जीव परीक्षण प्रयोगशाला देहरादून भेजा जाएगा। रिपोर्ट आने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

शक्तिवर्धक दवा बनाने का काम आता है चूर्ण
वन विभाग के अधिकारियों ने बताया कि जब्त सामानों से शक्तिवर्धक दवा तैयार कर देने का दावा किया जाता है। वही हाथी दांत चूर्ण और अन्य समुद्री पौधों को अलग अलग कार्य के लिए लोग खरीदते हैं। जब्त सामानों का मूल्यांकन नहीं किया गया है।

सट्टा लिखते युवक पकड़ाया
क्राइम ब्रांच ने सिकोला बस्ती क्षेत्र में दबिश देकर सट्टा लिखते दिलीप साहू (२२) को गिरफ्तार किया है। उसके पास ३२० रुपए नकदी और सट्टा पट्टी जब्त किया है। पुलिस की नजर पड़ते ही वह भाग रहा था। पुलिस ने पीछाकर आयुर्वेदिक अस्पताल के पीछे उसे गिरफ्तार कर लिया गया। मामले में जुआं एक्ट की धारा के तहत कार्यवाही की गई है।

मोबाइल पर बात करते सीढी से गिरा, मौत
जगदंबा राइस मिल के वेल्डर ग्राम जेवरा निवासी नागेश उर्फ नागेश्वर (४०) की उपचार के दौरान चंदूलाल चंद्राकर अस्पताल में मौत हो गई। मंगलवार को वह मोबाइल पर बात करते हुए सीढ़ी चढ़ रहा था। पैर फिसलने से वह २० फीट ऊचाई से नीचे गिर गया था। गंभीर रुप से घायल होने पर उसे भर्ती कराया गया था। पुलिस के मुताबिक नागेश उर्फ नागेश्वर के सिर पर गंभीर चोटें आई थी। उसे डॉक्टरों ने आइसीयू में रखा था। २४ घंटा के उपचार के बाद उसकी सांसे थम गई।

 

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned