PNB Ghotala: मेहुल चोकसी पर ईडी की बड़ी कार्रवाई, मर्सिडीज बेंज समेत 24.77 करोड़ की संपत्ति जब्त

PNB Ghotala: मेहुल चोकसी पर ईडी की बड़ी कार्रवाई, मर्सिडीज बेंज समेत 24.77 करोड़ की संपत्ति जब्त

Saurabh Sharma | Publish: Jul, 12 2019 06:18:58 AM (IST) | Updated: Jul, 12 2019 10:12:26 AM (IST) अर्थव्‍यवस्‍था

PNB Ghotala: ED ने मेहुल चोकसी की Immovable Assets को जब्त किया है। जिसकी कीमत करीब 25 करोड़ रुपए के आसपास है।

नई दिल्ली। पंजाब नेशनल बैंक ( pnb ghotala ) में 13,500 करोड़ रुपए की धोखाधड़ी के मामले में प्रवर्तन निदेशालय ( enforcement directorate ) ने गुरुवार को भगोड़ा हीरा कारोबारी मेहुल चोकसी ( mehul choksi ) की कुल 24.77 करोड़ रुपए की अचल संपत्ति जब्त की है, जिसमें कीमती वस्तुएं, वाहन और बैंक खाते शामिल हैं।

पंजाब नेशनल बैंक धोखाधड़ी से जुड़े मामले में यह कार्रवाई धनशोधन निवारक कानून 2002 के तहत की गई है। ईडी ने चोकसी की दुबई स्थित तीन व्यावसायिक संपत्तियां, कीमती वस्तुएं, एक मर्सिडीज बेंज ई-280 और मियादी जमा राशि जब्त की है। चोकसी ने पिछले साल एंटीगुआ की नागरिकता ले ली थी।

यह भी पढ़ेंः- सितंबर महीने से होगा स्विस बैंक के काले धनकुबेरों का खुलासा

चोकसी के खिलाफ कुल 6,097.73 करोड़ रुपए का अपराध है। ईडी ने अब तक 2,534.7 करोड़ रुपए की संपत्ति जब्त की है। केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) और ईडी द्वारा मामले में चोकसी और नीरव मोदी के खिलाफ जांच की जा रही है। ईडी ने चोकसी के प्रत्यर्पण की मांग की है और ईडी की मांग पर मेहुल चोकसी के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस भी जारी किया गया है।

यह भी पढ़ेंः- भारत को 14 करोड़ रुपए का नुकसान करा गया 'धोनी का रनआउट’

बता दें कि मेहुल चोकसी के खिलाफ देश में ही नहीं विदेश में भी कार्रवाई हो रही है. हाल ही में एंटीगुआ के प्रधानमंत्री गैस्टन ब्राउन ने मेहुल चोकसीकी नागरिकता को रद्द करने का ऐलान किया था। उन्होंने ये कदम भारत के दवाब में उठाया था।

यह भी पढ़ेंः- छह अगस्त से शुरू होगी विस्तारा की अंतरराष्ट्रीय उड़ान, इतना होगा किराया

कुछ इस तरह का है मामला
- पंजाब नेशनल बैंक घोटाले का खुलासा 2018 में हुआ था।
- यह घोटाला करीब 13000 करोड़ का है।
- इस घोटाले का मास्टरमाइंड हीरा कारोबारी नीरव मोदी था।
- घोटाले के खुलासे के बाद नीरव मोदी पूरे परिवार के साथ देश से फरार हो गया।
- सह-आरोपी मेहुल चोकसी भी देश से भागने में सफल रहा।
- दोनों के फरार होने पर मोदी सरकार पर जमकर आलोचना हुई।
- पीएनबी द्वारा दिए लेटर ऑफ अंडरटेकिंग के माध्यम से नीरव ने बैंकों से रुपए लिए।
- पीएनबी ने 28 जनवरी 2018 को नीरव मोदी की कंपनियों पर मामला दर्ज कराया।

 

Business जगत से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर और पाएं बाजार, फाइनेंस, इंडस्‍ट्री, अर्थव्‍यवस्‍था, कॉर्पोरेट, म्‍युचुअल फंड के हर अपडेट के लिए Download करें patrika Hindi News App.

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned