scriptADR report: 167 candidates tainted in first phase of Gujarat elections | गुजरात चुनाव के पहले चरण में 21% उम्मीदवारों पर आपराधिक केस, AAP के सबसे ज्यादा दागी | Patrika News

गुजरात चुनाव के पहले चरण में 21% उम्मीदवारों पर आपराधिक केस, AAP के सबसे ज्यादा दागी

locationनई दिल्लीPublished: Nov 25, 2022 12:18:29 pm

Submitted by:

Shaitan Prajapat

Gujarat Assembly Elections 2022 : गुजरात विधानसभा चुनाव के पहले चरण के लिए 1 दिसंबर को मतदान होना है। पहले चरण में 89 सीटों पर चुनाव लड़ने वाले कुल 788 उम्मीदवारों में से 167 पर आपराधिक मामलों दर्ज है। आम आदमी पार्टी ने सबसे ज्यादा 36 फीसदी दागी प्रत्याशियों को टिकट दिया है।

Gujarat Assembly Elections 2022
Gujarat Assembly Elections 2022

Gujarat Assembly Elections 2022 : राजनीति के अपराधीकरण पर सभी राजनीतिक दल चिंता करते है और इस पर अंकुश लगाने की बात भी करते है। लेकिन जब चुनाव में टिकट देने की आती है, तो सब किनारे कर देते है। गुजरात विधानसभा चुनाव 2022 के पहले चरण में सौराष्ट्र-कच्छ व दक्षिण गुजरात की 89 सीटों पर चुनाव लड़ रहे 788 उम्मीदवारों में से कुल 167 उम्मीदवारों के खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज हैं। चुनाव में कुल 788 में से 21% उम्मीदवार दागी हैं। एडीआर व गुजरात इलेक्शन वॉच की रिपोर्ट में कहा है कि 2017 की तुलना में इस बार पहले चरण में आपराधिक पृष्ठभूमि वाले प्रत्याशियों की संख्या 6% बढ़ी है। 2017 में पहले चरण में 923 में से 137 प्रत्याशी यानी 15% दागी प्रत्याशी थे, जो 2022 में बढ़कर 167 उम्मीदवार यानी 21% हो गए।

AAP के सबसे ज्यादा दागी उम्मीदवार


पहले चरण के चुनाव में आम आदमी पार्टी ने सबसे ज्यादा 36 फीसदी दागी प्रत्याशियों को टिकट दिया है। उसके 88 प्रत्याशियों में से 32 आपराधिक पृष्ठभूमि के हैं। इनमें से 26 प्रत्याशियों पर गंभीर आपराधिक मामले दर्ज हैं। कांग्रेस ने 35 प्रतिशत यानी 31 दागी प्रत्याशियों को टिकट दिया है। इनमें से 18 उम्मीदवारों पर गंभीर आपराधिक मामले हैं। वहीं भारतीय जनता पार्टी के 89 में से 14 प्रत्याशी दागी हैं। इनमें 11 प्रत्याशी गंभीर आपराधिक पृष्ठभूमि वाले हैं।

यह भी पढ़ें

Gujarat election 2022: भाजपा के 89, कांग्रेस के 73 प्रतिशत प्रत्याशी करोड़पति

ठोस कार्रवाई होगी तभी लगेगी रोक


गुजरात इलेक्शन वॉच की राज्य संयोजक पंक्ति जोग का कहना है कि जिन पर हत्या, दुष्कर्म, अपहरण, हत्या की कोशिश जैसे संगीन अपराध हैं, उनको हमेशा चुनाव लड़ने के लिए अयोग्य घोषित करना चाहिए। पांच साल की सजा वाले अपराध में लिप्त प्रत्याशियों को कुछ समय के लिए अयोग्य घोषित किया जाना चाहिए।

यह भी पढ़ें

Gujarat election 2022

मोदी ने कहा, कांग्रेस की उदासीनता के चलते नहीं हुआ गांवों का विकास

सम्बधित खबरे

सबसे लोकप्रिय

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather Update: राजस्थान में बारिश को लेकर मौसम विभाग का आया लेटेस्ट अपडेट, पढ़ें खबरTata Blackbird मचाएगी बाजार में धूम! एडवांस फीचर्स के चलते Creta को मिलेगी बड़ी टक्करजयपुर के करीब गांव में सात दिन से सो भी नहीं पा रहे ग्रामीण, रात भर जागकर दे रहे पहरासातवीं के छात्रों ने चिट्ठी में लिखा अपना दुःख, प्रिंसिपल से कहा लड़कियां class में करती हैं ऐसी हरकतेंनए रंग में पेश हुई Maruti की ये 28Km माइलेज़ देने वाली SUV, अगले महीने भारत में होगी लॉन्चGanesh Chaturthi 2022: गणेश चतुर्थी पर गणपति जी की मूर्ति स्थापना का सबसे शुभ मुहूर्त यहां देखेंJaipur में सनकी आशिक ने कर दी बड़ी वारदात, लड़की थाने पहुंची और सुनाई हैरान करने वाली कहानीOptical Illusion: उल्लुओं के बीच में छुपी है एक बिल्ली, आपकी नजर है तेज तो 20 सेकंड में ढूंढकर दिखाये

बड़ी खबरें

'गद्दार' विवाद के बाद पहली बार गहलोत और पायलट का हुआ आमना-सामना, देखें वीडियोगौतम अडानी ग्रुप को मिला धारावी रिडेवलपमेंट प्रोजेक्ट, 5 हजार करोड़ की लगाई थी बोलीगुजरात विधानसभा चुनाव के पहले चरण का प्रचार आज खत्म, 1 दिसम्बर को होगी वोटिंगउड़नपरी की एक और बड़ी उड़ानः भारतीय ओलंपिक संघ की पहली महिला अध्यक्ष बनीं पीटी उषासीएम की बहन व YSRTP प्रमुख वाईएस शर्मिला पुलिस हिरासत में, क्रेन से खींची कारगुजरात चुनाव में भाजपा के सबसे अधिक उम्मीदवार हैं करोड़पति, दूसरे पर कांग्रेसआरबीआई एक दिसंबर को लॉन्च करेगा रिटेल डिजिटल रुपयाGujarat Election 2022 : अहमदाबाद जिले में 2044 दिव्यांग एवं बुजुर्गों ने किया मतदान
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.