कक्षा 11वीं व 12वीं के छात्रों के लिए जारी हुआ नया शैक्षणिक कैलेंडर, HRD Minister ने किया लॉन्च

केंद्रीय मानव संसाधन विकास (एचआरडी) मंत्री, रमेश पोखरियाल निशंक ने कक्षा 11 और 12 के लिए एक वैकल्पिक शैक्षणिक कैलेंडर जारी किया। कैलेंडर को NCERT द्वारा बनाया गया है।

By: Jitendra Rangey

Published: 03 Jun 2020, 08:28 PM IST

केंद्रीय मानव संसाधन विकास (एचआरडी) मंत्री, रमेश पोखरियाल निशंक ने कक्षा 11 और 12 के लिए एक वैकल्पिक शैक्षणिक कैलेंडर जारी किया। कैलेंडर को NCERT द्वारा बनाया गया है। मंत्री ने ट्विटर पर वैकल्पिक शैक्षणिक कैलेंडर लॉन्च करते हुए लिखा, "यह कैलेंडर छात्रों को शिक्षित करने के लिए विभिन्न तकनीकी उपकरणों / सोशल मीडिया टूल्स के उपयोग पर शिक्षकों को निर्देशित करता है।"

अलग-अलग विषयों के छात्रों के लिए, ऑडियोबुक, रेडियो कार्यक्रम, वीडियो कार्यक्रम आदि के लिए लिंक भी पाठ्यक्रम में शामिल किए जाएंगे। मंत्री ने कहा, "यह हमारे छात्रों, शिक्षकों, स्कूल प्रिंसिपलों और अभिभावकों को सशक्त बनाएगा कि वे ऑन-लाइन शिक्षण-शिक्षण संसाधनों का उपयोग करते हुए कोविद -19 से निपटने के सकारात्मक तरीकों का पता लगाएं और सीखने के परिणामों की प्राप्ति में मदद करें।"

NCERT ने पहले बाकी वर्गों के लिए कैलेंडर प्रकाशित किया था। सभी विषयों को सप्ताह के अनुसार योजनाओं के माध्यम से कैलेंडर में जारी किया जाएगा। इस कैलेंडर का प्रसार डीटीएच चैनलों के माध्यम से किया जाएगा और एससीईआरटी, शिक्षा निदेशालय, एससीईआरटी, केंद्रीय विद्यालय संगठन, नवोदय विद्यालय समिति, सीबीएसई, राज्य स्कूल शिक्षा बोर्ड, आदि के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग भी करेगा।

इसका उद्देश्य यह सुनिश्चित करना है कि लॉकडाउन के दौरान भी देशभर के छात्रों के पास गुणवत्ता और मानकीकृत सामग्री हो। मिड-मार्च के बाद से देशभर के स्कूल और कॉलेज बंद हैं। जल्द ही स्कूलों के फिर से खोलने पर कोई फैसला नहीं हुआ है। मानव संसाधन विकास मंत्री ने पहले बताया था कि एनसीईआरटी स्कूलों को फिर से खोलने की तैयारी कर रहा है।

जैसा कि पहले बताया था कि कक्षा 9 से 12 तक के बच्चों के लिए स्कूल खुलेंगे। मंत्रालय के अधिकारियों के अनुसार 6 से 10 साल के समूह में कक्षा 1 से 5 तक के छात्रों के अगले तीन महीनों के लिए कक्षाओं में वापस जाने की संभावना नहीं है। कक्षा में बैठने की व्यवस्था को सामाजिक भेद का पालन करना होगा, जिसका अर्थ है कि दो छात्र आदर्श रूप से छह फीट अलग बैठेंगे। स्कूलों के दोबारा खुलने पर मास्क और सैनिटाइजर अनिवार्य होगा। कई राज्य जुलाई के मध्य तक स्कूल खोलने पर विचार कर रहे हैं। यूजीसी ने कहा था कि वह अगस्त में नामांकित छात्रों के लिए ओपन कॉलेज और सितंबर से नए बैच पर विचार करेगा।

Show More
Jitendra Rangey
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned