विदेशी निवेशकों को टैक्स से राहत देने जा रही है केंद्र सरकार

विदेशी निवेशकों को टैक्स से राहत देने जा रही है केंद्र सरकार

Saurabh Sharma | Publish: Aug, 07 2019 06:01:04 AM (IST) | Updated: Aug, 07 2019 07:36:15 AM (IST) फाइनेंस

  • सुपररिच टैक्स को एक बार फिर से किया जाएगा पुनर्गठित
  • ग्रैंडफादरिंग प्रावधान के जरिए किया जाएगा समस्या का समाधान

नई दिल्ली। जम्मू कश्मीर पर संविधान के धारा 370 को निष्प्रभावी बनाने के बाद केंद्र सरकार अब अर्थव्यवस्था की तात्कालिक चिंताओं को दूर करने पर अपना ध्यान केंद्रित करेगी। आधिकारिक सूत्रों के अनुसार, एजेंडे में पहला काम विदेशी पोर्टफोलियो निवेशक ( एफपीआई ) पर एक सुपर रिच टैक्स सरचार्ज के बजट प्रस्ताव को पुनर्गठित कर बाजार में सामान्य स्थिति बहाल करना है।

यह भी पढ़ेंः- जम्मू कश्मीर में इंवेस्टमेंट को लेकर काॅरपोरेट सेक्टर में उत्साह, जानिये क्या कहा…

सूत्रों ने कहा कि प्रधानमंत्री कार्यालय पीएमओ ने वित्त मंत्रालय से कहा है कि एफपीआई पर कर प्रस्ताव की तत्काल समीक्षा की जाए और कोई समाधान पेश किया जाए, ताकि इन संस्थानिक निवेशकों पर नए कर का प्रभाव घट सके।

यह भी पढ़ेंः- धारा 370 हटते ही केंद्र के हाथों में आएगा जम्मू कश्मीर बैंक, यह पड़ेगा असर

पांच जुलाई को बजट पेश किए जाने तक एफपीआई द्वारा की गई सभी कमाई के ग्रैंडफादरिंग के एक प्रस्ताव पर विचार किया जा रहा है, जिससे नए कराधान का प्रभाव लगभग एक-तिहाई कम हो जाएगा। इसे अपेक्षाकृत एक अधिक स्वीकार्य समाधान माना जा रहा है, क्योंकि वित्त मंत्रालय ने अपने कर प्रस्तावों पर लगातार एक कड़ा रुख बनाए रखा है, जो एफपीआई को प्रभावित करते हैं।

यह भी पढ़ेंः- आर्टिकल 370 हटने के बाद विकास की राह पर चल पड़ा जम्मू-कश्मीर, अमूल करेगा दूध का कारोबार

सूत्रों ने कहा कि मंत्रालय भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) की सात अगस्त की मौद्रिक नीतिगत समीक्षा के बाद इस सप्ताह बदलावों की घोषणा कर सकता है। आरबीआई अपनी तरफ से ब्याज दरों में 25 आधार अंकों की कटौती कर सकता है, ताकि बाजार में तरलता बढ़े और निजी क्षेत्र निवेश चक्र को फिर से शुरू करें।

 

Business जगत से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर और पाएं बाजार, फाइनेंस, इंडस्‍ट्री, अर्थव्‍यवस्‍था, कॉर्पोरेट, म्‍युचुअल फंड के हर अपडेट के लिए Download करें patrika Hindi News App.

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned