आधी रात को शहर में आ धमके 6 हाथी, महिला को सूंड से उठाकर बाहर निकाला और खेला फुटबॉल की तरह

नगर निगम चिरमिरी के वार्ड क्रमांक-9 में हाथियों ने मचाया आतंक, 3 वार्डों में तोड़े 6 घर तथा अनाज चट कर लाखों रुपए का घरेलू सामान किया क्षतिग्रस्त

By: rampravesh vishwakarma

Updated: 20 Jul 2018, 03:33 PM IST

चिरमिरी. इन दिनों कोरिया जिले में हाथियों ने आतंक मचा रखा है। हाथी अलग-अलग दल में बंटकर घर तोड़कर अनाज चट कर जा रहे हैं। गुरुवार की देर रात नगर निगम चिरमिरी के वार्ड क्रमांक-9, 10 व 35 में 6 हाथियों का दल घुस आया। इस दौरान उन्होंने 6 घरों को ढहा दिया। वहीं एक वृद्ध महिला को घर से सूंड में लपेटकर बाहर निकाला तथा बाहर लाकर पटक दिया।

इसके बाद उन्होंने उसकी पटक-पटक कर जान ले ली। सूचना पर सुबह वन विभाग की टीम पहुंची और महिला के शव को पीएम के लिए अस्पताल भिजवाया। हाथियों द्वारा घर ढहाए जाने के कारण लोगों को लाखों रुपए का नुकसान भी हुआ है। वन अमला नुकसान का आंकलन करने में जुटा है।

 

Broken house by elephants

कोरिया जिले के चिरमिरी नगर निगम के वार्ड क्रमांक-9 स्थित पल्थाजाम में गुरुवार की रात करीब 3 बजे 6 हाथियों का दल घुस आया। इस दौरान उन्होंने वहीं की 60 वर्षीय कुंती पति स्व. बाबूलाल परिवार के अन्य सदस्यों के साथ घर में सो रही थी। हाथियों के आने की भनक लगते ही परिवार के सदस्य भागने लगे।

इस बीच एक हाथी ने वृद्धा को सूंड में लपेट लिया और बाहर ले आया। यहां उसने उसके ही खेत में पटक दिया। इसके बाद फुटबॉल की तरह हवा में कई बार उछालकर जान ले ली।

 

Broken house

सुबह इसकी सूचना ग्रामीणों ने वन विभाग को दी। सूचना मिलते ही स्थानीय पुलिस तथा चिरमिरी व बैकुंठपुर वन अमला मौके पर पहुंचा तथा पंचनामा पश्चात महिला के शव को पीएम के लिए अस्पताल भिजवाया। विभाग द्वारा मुआवजा प्रकरण भी तैयार किया जा रहा है।


6 घर तोड़े
हाथियों के इस दल ने महिला को मौत देने से पूर्व वार्ड क्रमांक-11 ऊपरढ़ोढ़ा, गेल्हापानी नॉर्थ चिरमिरी निवासी रामचरण, केशव प्रसाद, चरकू पनिका, सुंदरलाल तथा चंद्रिका के घर तो तोड़ दिया। इसके अलावा घरों में रखे अनाज को भी चट कर गए। घर ढहने से भीतर रखा लाखों रुपए का सामान भी क्षतिग्रस्त हो गया।

इसके बाद हाथियों ने पल्थाजाम निवासी मोती सिंह पिता परशु के घर को ढहा दिया। आवाज सुनकर मोती अपने पूरे परिवार को लेकर बाहर निकल गया। वन विभाग द्वारा घरों को हुए नुकसान का भी प्रकरण बनाया गया। इधर वार्ड पार्षद ने पीडि़त परिवार के रहने के लिए सामुदायिक भवन में स्थान आबंटित किया।

Show More
rampravesh vishwakarma Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned