बैंक ऑफ इंडिया को चौथी तिमाही में हुआ भारी मुनाफा, 251 करोड़ पहुंचा शुद्ध लाभ

बैंक ऑफ इंडिया को चौथी तिमाही में हुआ भारी मुनाफा, 251 करोड़ पहुंचा शुद्ध लाभ

Shivani Sharma | Publish: May, 16 2019 05:24:13 PM (IST) बाजार

  • सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक आफ इंडिया ने मार्च में समाप्त चौथी तिमाही के दौरान 251.79 करोड़ रुपए का शुद्ध लाभ अर्जित किया
  • एक साल पहले इसी तिमाही में बैंक को 3,969 करोड़ रुपए का शुद्ध घाटा हुआ था
  • बैंक ने नियामकीय सूचना में यह जानकारी दी

नई दिल्ली। सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक ऑफ इंडिया ने मार्च में समाप्त चौथी तिमाही के दौरान 251.79 करोड़ रुपए का शुद्ध लाभ अर्जित किया है। एक साल पहले इसी तिमाही में बैंक को 3,969 करोड़ रुपए का शुद्ध घाटा हुआ था। बैंक ने नियामकीय सूचना में यह जानकारी दी है।


चौथी तिमाही में हुआ फायदा

वित्त वर्ष 2018- 19 की चौथी तिमाही में बैंक की कुल आय एक साल पहले की इसी अवधि के 9,596.86 करोड़ रुपए से बढ़कर 12,417.08 करोड़ रुपए पर पहुंच गई। बैंक को हालांकि, समूचे वित्त वर्ष 2018- 19 में 5,546.90 करोड़ रुपए का शुद्ध घाटा हुआ है। रिजर्व बैंक के त्वरित सुधारात्मक कार्रवाई (पीसीए) के दायरे से बाहर निकलने के बाद बैंक का यह पहला तिमाही परिणाम है।


बैंक की गुणवत्ता में आया सुधार

इस दौरान बैंक की संपत्ति गुणवत्ता में कुछ सुधार आया है। मार्च 2019 की समाप्ति पर बैंक की गैर-निष्पादित परिसंपत्तियां (एनपीए) घटकर 15.84 फीसदी रह गईं। जबकि 31 मार्च 2018 को यह 16.58 फीसदी थीं। इसी प्रकार बैंक का शुद्ध एनपीए एक साल पहले के 8.26 फीसदी से घटकर 5.61 फीसदी रह गया।


ये भी पढ़ें: TGBL का हुआ टाटा नमक, ब्रांडेड फूड बिजनेस का होगा टाटा बेवरेजेज में विलय


फंसे कर्ज में भी आई कमी

बैंक के फंसे कर्ज अनुपात में कमी आने से उसके एवज में किया जाना वाला प्रावधान भी कम हुआ है। एक साल पहले फंसे कर्ज के एवज में जहां बैंक ने 6,699.23 करोड़ रुपए का प्रावधान किया था वहीं इस साल यह घटकर 1,502.90 करोड़ रुपए रह गया है। पूरे वित्त वर्ष 2018- 19 की यदि बात की जाये तो बैंक को 5,546.90 करोड़ रुपए का घाटा हुआ है।


2017-18 में हुआ घाटा

इससे पिछले वर्ष 2017-18 में बैंक का शुद्ध घाटा 6,043.71 करोड़ रुपए था। आलोच्य अवधि में बैंक की कुल आय 45,899.82 करोड़ रुपए रही जो कि इससे पिछले वर्ष में 43,805.17 करोड़ रुपए थी। बीते वित्त वर्ष में सरकार ने बैंक ने दो किस्तों में 14,724 करोड़ रुपए की पूंजी डाली है। पहली बार दिसंबर 2018 में 10,086 करोड़ रुपए और दूसरी बार इस साल फरवरी में 4,638 करोड़ रुपए की पूंजी डाली गई।

Business जगत से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर और पाएं बाजार,फाइनेंस,इंडस्‍ट्री,अर्थव्‍यवस्‍था,कॉर्पोरेट,म्‍युचुअल फंड के हर अपडेट के लिए Download करें patrika Hindi News App.

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned