Covid-19 Vaccine: भारत में कब आएगी कोरोना वैक्सीन? जानें क्या है सबसे बड़ी चुनौती?

-Covid-19 Vaccine in India: कोरोना महामारी ( Coronavirus ) के इलाज के लिए भारत समेत दुनियाभर में कोरोना वैक्सीन ( Coronavirus Vaccine ) पर तेजी से काम चल रहा है।
-तमाम वैज्ञानिक और डॉक्टर्स कोरोना की दवा खोजने में जुट हुए हैं।
-कई वैक्सीन का परीक्षण आखिरी दौर में चल रहा है।
-भारतीय वैज्ञानिक ने कहा है कि अगर नतीजे अच्‍छे रहते हैं तो 2021 के मध्य तक वैक्‍सीन उपलब्‍ध हो सकती है।

By: Naveen

Published: 24 Sep 2020, 03:57 PM IST

नई दिल्ली।
Covid-19 Vaccine in India: कोरोना महामारी ( Coronavirus ) के इलाज के लिए भारत समेत दुनियाभर में कोरोना वैक्सीन ( Coronavirus Vaccine ) पर तेजी से काम चल रहा है। तमाम वैज्ञानिक और डॉक्टर्स कोरोना की दवा खोजने में जुट हुए हैं। कई वैक्सीन का परीक्षण आखिरी दौर में चल रहा है। इसी कड़ी में भारतीय वैज्ञानिक ने कहा है कि इस साल के आखिर तक हमें पता चल जाएगा कि कौन सी वैक्‍सीन असरदार होगी। इसके बाद अगर नतीजे अच्‍छे रहते हैं तो 2021 के मध्य तक वैक्‍सीन उपलब्‍ध हो सकती है। लेकिन, सबसे बड़ी चुनौती टीकाकरण को लेकर है। क्योंकि, बड़े पैमाने पर वैक्‍सीन के उत्‍पादन में समय लगेगा।

शोध में खुलासा, वायु प्रदूषण से बढ़ जाता है Coronavirus फैलने का खतरा

टीकाकरण को लेकर बड़ी चुनौती
विश्व स्वास्थ्य संगठन की ग्लोबल एडवायजरी कमेटी की सदस्य गगनदीप कांग ने कहा कि वैक्‍सीन लॉन्‍च होने पर उसे 1.3 अरब से ज्‍यादा भारतीयों को उपलब्‍ध करा पाना एक बड़ी चुनौती होगा। उन्होंने कहा कि हमने महिलाओं-बच्चों को टीके लगाए, लेकिन वयस्कों के टीकाकरण का अभी अनुभव नहीं है। जबकि, बुजुर्ग ही सबसे ज्यादा वायरस के शिकार हो रहे हैं। ऐसे में सभी उम्र के लोगों के लिए इंतजाम करना, बड़ी चुनौती होगी।

अगले साल तक वैक्सीन की संभावना
गगनदीप कांग ने कहा कि दुनियाभर में जिन वैक्सीन का परीक्षण चल रहा है, उनके सफल होने के 50-50 चांस हैं। हमें साल के आखिरी तक इस बात का पता चल पाएगा कि कौनसी दवा कारगर है। अगर उस दवा का परिणाम अच्छा रहा तो फिर हम 2021 की पहली छमाही में कम मात्रा में वैक्‍सीन बना सकते हैं। दूसरी छमाही में बड़े पैमाने पर वैक्‍सीन की डोज तैयार होने लगेंगी।

बिना इंजेक्शन वाली COVID-19 Vaccine का ट्रायल, भारत बायोटेक-वाशिंगटन यूनिवर्सिटी में करार

भारत में किस वैक्सीन की तैयारी?

  • सीरम इंस्टिट्यूट ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी वैक्सीन के आखिरी चरण का परीक्षण कर रहे हैं।
  • डॉ. रेड्डी लैबोरेटरीज रूस की वैक्सीन स्पूतनिक का भारत में वितरण की तैयारी कर चुका है, अनुमति मिलते ही वितरण शुरू होगा।
  • भारत बायोटेक कंपनी की वैक्सीन 'कोवैक्सीन' परीक्षण के दूसरे चरण में है।
  • भारतीय कंपनी जायडस कैडिला की वैक्सीन 'जेवाईसीओवी-डी' का तीसरे चरण का क्लीनिकल ट्रायल करने के लिए अनुमति के इंतजार में है।
Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned