'EVM में किसी भी तरह टेंपरिंग संभव ही नहीं' , विपक्ष के आरोपों पर बोले पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त

'EVM में किसी भी तरह टेंपरिंग संभव ही नहीं' , विपक्ष के आरोपों पर बोले पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त

  • मतगणना से पहले EVM पर रार
  • पूर्व चुनाव आयुक्त ओपी रावत ने EVM पर जताया भरोसा
  • कहा- सभी दल के प्रतिनिधि के सामने खुलता है ईवीएम

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव के नतीजों से पहले विपक्षी दलों ने ईवीएम पर ढेरों आरोप लगाएं और हर बार चुनाव आयोग ने खारिज कर दिया। अब मतगणना से पहले एकबार फिर VVPAT की कम से 50 प्रतिशत पर्चियों का मिलान मांग को ठुकराए जाने के बाद पूर्व चुना आयुक्त ओपी रावत का बयान आया है। उन्होंने कहा कि ईवीएम पर सवाल उठाना गलत है, क्योंकि इसकी सुरक्षा एक बेहद सख्त होती है।

राशिद अल्वी का सनसनीखेज आरोप, साजिश के तहत कांग्रेस को 3 राज्यों में मिली थी जीत

EVM चुनाव का ये सबसे सुरक्षित माध्यम: रावत

ओपी रावत ने कहा ईवीएम के साथ छेड़छाड़ किया जाना संभव ही नहीं है। चुनाव प्रक्रिया के बाद इसे सुरक्षित स्थान पर रखा जाता है। जहां सभी दलों के प्रतिनिधि हर वक्त मौजूद होते हैं। उनकी मौजूदगी में गिनती के लिए इसे बाहर निकाला जाता है। ऐसे में किसी भी तरह टेंपरिंग संभव नहीं है। उन्होंने कहा कि एम-3 ईवीएम अपडेट वर्जन की मशीन है। ये इस तरह डिजाइन किया गया है कि अगर कोई इसे छेड़छाड़ की कोशिश भी करेगा तो ये फैक्ट्री मोड में चली जाएगी और काम की नहीं रहेगी। चुनाव का ये सबसे सुरक्षित माध्यम है।

दिल्ली: सब-इंस्पेक्टर की हत्या पर बोले केजरीवाल- पुलिस सुरक्षित नहीं तो आम लोगों को क्या होगा

आयोग ने फिर खारिज की विपक्ष की मांग

22 विपक्षी पार्टियों ने EVM और VVPAT की पर्चियों को मिलान करने की मांग की थी। ईवीएम को लेकर उठाए जा रहे सवालों को देखते हुए मतगणना से एक दिन पहले चुनाव आयोग ने बैठक बुलाई। काफी देर चर्चा के बाद आयोग ने विपक्ष की मांग को सिरे से खारिज कर दी। चुनाव आयोग ने कहा कि अब नियमों में किसी तरह का बदलाव नहीं होगा।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned