scriptsc gives 10 days to govt for appointment tribunals in pegasus case | Pegasus case: ट्रिब्यूनल में नियुक्ति के लिए सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार को दिया 10 दिनों का समय | Patrika News

Pegasus case: ट्रिब्यूनल में नियुक्ति के लिए सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार को दिया 10 दिनों का समय

सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में बताया कि पेगासस जासूसी (Pegasus case) मामले की जांच अब एक कमेटी द्वारा की जाएगी। इस पर सुप्रीम कोर्ट ने ट्रिब्यूनल के लिए 10 दिनों का समय दिया है।

नई दिल्ली

Published: August 16, 2021 02:20:02 pm

नई दिल्ली। पेगासस विवाद (Pegasus case) मामले में सुनवाई के दौरान केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में पेगासस से जासूसी के आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया। केंद्र ने कहा कि कथित जासूसी मामले की जांच की मांग करने वाली याचिकाएं अटकलों, अनुमानों और मीडिया की अपुष्ट खबरों पर आधारित हैं। साथ ही सरकार ने कोर्ट को बताया कि मामले की जांच अब एक कमेटी द्वारा की जाएगी।
पेगासस मामले पर सुप्रीम कोर्ट
पेगासस मामले पर सुप्रीम कोर्ट
केंद्र ने दाखिल किया दो पेज का हलफनामा

जानकारी के मुताबिक केंद्र की तरफ से सुप्रीम कोर्ट में दो पेज का एफिडेविट दाखिल किया गया है। हलफनामे के मुताबिक सरकार विशेषज्ञों की एक कमेटी बनाएगी, जो इस पेगासस विवाद की जांच करेगी। वहीं सुप्रीम कोर्ट ने चयन समितियों की सिफारिशों के बावजूद ट्रिब्यूनल में नियुक्ति करने के लिए केंद्र को 10 दिनों का समय दिया है।
जांच के लिए सरकार बनाएगी समिति

केंद्र सरकार ने न्यायालय को सूचित किया कि निहित स्वार्थी तत्वों द्वारा फैलाए गए गलत विमर्श को खारिज करने के लिए वह विशेषज्ञों की एक समिति का गठन करेगी। उच्चतम न्यायालय ने जांच के अनुरोध वाली याचिकाओं पर सुनवाई शुरू की, केंद्र ने कहा कि छिपाने को कुछ नहीं है और विशेषज्ञों की समिति बनाई जाएगी।
यह भी पढ़ें

पेगासस जासूसी मामले पर बोले अशोक गहलोत, सुप्रीम कोर्ट स्वत: संज्ञान ले

इससे पहले 10 अगस्त को मामले पर सुनवाई हुई थी, तब सुप्रीम कोर्ट ने स्वतंत्र जांच का अनुरोध करने वाले कुछ याचिकाकर्ताओं द्वारा सोशल मीडिया पर 'समानांतर कार्यवाही और बहस' पर आपत्ति जताई थी और कहा था कि अनुशासन और न्याय प्रणाली में विश्वास होना चाहिए।
पेगासस मामले पर संसद में हंगामा

गौरतलब है कि इस बार संसद के मानसून सत्र में पेगासस जासूसी मसले पर विपक्ष ने जमकर हंगामा किया। इस दौरान संसद में कुछ अहम बिल पास तो हुए लेकिन विपक्ष के हंगामें के चलते किसी पर भी चर्चा नहीं हो सकी। दरअसल, विपक्षी नेता संसद में सबसे पहले पेगासस जासूसी मामले पर चर्चा की मांग कर रहे थे।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Maharashtra Politics: महाराष्ट्र बीजेपी अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने देवेंद्र फडणवीस के डिप्टी सीएम बनने की बताई असली वजह, कही यह बातMonsoon/ शहर में साढ़े आठ इंच बारिश से सडक़ों पर सैलाब जैसा नजारा, जन जीवन प्रभावित2 जुलाई को छ.ग. बंद: उदयपुर की घटना का असर छत्तीसगढ़ में, कई दलों ने खोला मोर्चाENG vs IND Edgbaston Test Day 1 Live: ऋषभ पंत के शतक की बदौलत भारतीय टीम मजबूत स्थिति मेंUdaipur Murder: जयपुर में हिन्दुओं की हुंकार से हिला प्रशासन, प्रदर्शन के चलते सुरक्षा एजेंसियां अलर्टएमपी में 3 साल में बन जाएंगे 21 फ्लाई ओवर, जानिए किन शहरों में मिली निर्माण की मंजूरीबीईओ का रिटायर्ड शिक्षक से रिश्वत मांगने का ऑडियो सोशल मीडिया पर वायरल, 60 हजार की थी डिमांडMumbai Rain: IMD की बड़ी भविष्यवाणी, मुंबई में अगले 24 घंटे में मूसलाधार बारिश होने की संभावना
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.