पाकिस्तान में भारी बारिश के चलते अबतक 42 की गई जान, करंट लगने के कारण हुई सबसे अधिक मौतें

पाकिस्तान में भारी बारिश के चलते अबतक 42 की गई जान, करंट लगने के कारण हुई सबसे अधिक मौतें

Shweta Singh | Publish: Aug, 14 2019 06:37:08 PM (IST) | Updated: Aug, 14 2019 06:37:42 PM (IST) पाकिस्तान

  • मानसून की बारिश के चलते सिंध और कराची के लोगों पर मुसीबत
  • कुछ लोगों की मौत घर की दीवार और छतों के ढहने से हुई

कराची। पाकिस्तान के कई इलाकों में भीषण बारिश का कहर बरप रहा है। शनिवार सुबह शुरू हुई मानसून की बारिश के चलते सिंध और कराची के लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। जानकारी के मुताबिक वहां भारी बारिश से जुड़ी घटनाओं में दो दर्जन से अधिक लोगों की जान चली गई। इसके अलावा कई अन्य लोग घायल हो गए हैं। इसके साथ ही कराची में काफी संख्या लोगों की मौत हुई है।

करंट लगने के कारण हुई सबसे अधिक मौतें

पाकिस्तानी मीडिया की रिपोर्ट के मुताबिक सिंध में से ज्यादातर पीड़ितों की मौत बिजली का करंट लगने से हुई है। इसके अलावा कुछ लोगों की मौत घर की दीवार और छतों के गिरने से हुई। स्थानीय पुलिस के अनुसार, क्षेत्र में बारिश के कारण कुल 32 लोग मारे गए हैं, जिनमें से 24 लोग कराची के निवासी थे। इसके अलावा 46 अन्य घायल हो गए, जिनमें से 33 घायल लोग प्रांतीय राजधानी के निवासी थे।

बिजली के खंभे से टकराने के बाद हुई मौत

एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि फैजान सलीम (25), हमजा तारिक(20) और तल्हा तनवीर (28) ने रविवार दोपहर बिजली की खराबी की शिकायत करने के लिए अपने घर को छोड़ दिया था। पुलिस का कहना है कि उन्हें जाहिर तौर पर बिजली के झटके का सामना करना पड़ा, जब घुटने तक भरे पानी के बीच उनकी मोटरसाइकिल एक बिजली के खंभे से टकरा गई। अधिकारी ने कहा, 'उनमें से दो लोगों की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि तीसरे आदमी ने अस्पताल में दम तोड़ दिया।'

कराची में 42 लोगों की मौत

इसके अलावा वहां सबसे बड़े महानगर कराची में भी भारी बारिश की वजह से कम से कम 42 लोगों की मौत हो चुकी है। इसके अलावा शहर के कई हिस्सों में बारिश का पानी भर गया है। कराची के मेयर वसीम अख्तर ने इस संबंध में मंगलवार को जारी किए बयान में कहा कि शहर में भारी बारिश के कारण तबाही मची है। उन्होंने कहा, 'शहर में कई लोग बिजली के कारण मरने वालों के हवाले से एफआईआर दर्ज करवाने जा रहे हैं।'

विश्व से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर ..

 

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned