जिले के किलकिला फीडर की नहर का मामला: एक सप्ताह के अंदर अतिक्रमण हटाने के निर्देश

जिले के किलकिला फीडर की नहर का मामला: एक सप्ताह के अंदर अतिक्रमण हटाने के निर्देश
Removal instructions within a week

Anil Singh Kushwaha | Updated: 13 Sep 2019, 06:39:24 PM (IST) Singrauli, Singrauli, Madhya Pradesh, India

क्षेत्र में अतिक्रमण हटाने को लेकर मुनादी भी कराई गई

पन्ना. किलकिला फीडर की नहर से अतिक्रमण हटाने को लेकर प्रशासन सख्त दिखाई देने लगा है। बीते दिनों कलेक्टर द्वारा राजनीतिक दलों के लोगों से चर्चा करने के बाद एसडीएम और तहसीलदार बुधवार की शाम को अतिक्रमणकारियों के बीच पहुंचे। उसके साथ चर्चा कर एक सप्ताह के अंदर अतिक्रमण हटाने की हिदायत दी, साथ ही कहा गया कि यदि एक सप्ताह के अंदर अतिक्रमण नहीं हटाए गए तो मशीन से गिरा दिए जाएंगे।

किलकिला नहर का मामला
गौरतलब है कि प्रशासन द्वारा बीते दिनों सिंचाई विभाग और नगर पालिका की टीम द्वारा संयुक्त सर्वे कराया गया था। जिसमें पाया गया था कि 17 मकान पूरी तरह से नहर के ऊपर बने हुए हैं। उन्हें हटाना पड़ेगा। इसके अलावा 150 मकानों द्वारा आंशिक रूप से अतिक्रमण किया गया है। इन्हें हटाने के लिए बारिश निकलने का इंतजार किया जा रहा था।

अतिक्रमण हटाने को लेकर मुनादी भी कराई गई
इसी को लेकर बीते दिनों कलेक्टर ने शांति समिति की बैठक के दौरान भी राजनीतिक दलों के लोगों से चर्चाकी थी। इसके बाद अब प्रशासन मामले में एक कदम और आगे बढ़ा है और अतिक्रमण कारियों को अतिक्रगमण हटाने के लिए एक सप्ताह की मोहलत दी गई है। इससे वे अपने अतिक्रमण हटाकर सुरक्षित स्थानों पर चले जाएं। एसडीएम वीवी पांडेय और तहसीलदार दीपा चतुर्वेदी भी बुधवार की शाम को अतिक्रमण कारियों के बीच पहुंचे थे। अधिकारियों ने अतिक्रमणकारियों की समस्याओं को भी सुना। बताया गया कि एक सप्ताह के अंदर अतिक्रमण हटान को लेकर मुनादी भी कराई गई है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned