VIDEO एमपी के रतलाम में बारिश से 18 की मौत, 90 लाख का नुकसान


18 deaths due to rain in MP's Ratlam, loss of 90 lakh: जिलेभर में 18 व्यक्तियों की मौत बारिश की वजह से हो चुकी है और दो घायल हुए हैं। सबसे ज्यादा आलोट विकासखंड में सात मौत हुई हैं। अब तक 13 पशु जान गंवा चुके हैं।

By: Ashish Pathak

Published: 05 Sep 2019, 01:25 PM IST

रतलाम। जिले में जून माह से शुरू हुए बारिश के सीजन में कभी तेज तो कभी रिमझिम बारिश का दौर जारी है। एक बार फिर बारिश ने जिले में दस्तक दे दी है। बारिश का इस साल का मौसम इंसानी जिंदगी पर भारी रहा है। जिलेभर में 18 व्यक्तियों की मौत बारिश की वजह से हो चुकी है और दो घायल हुए हैं। सबसे ज्यादा आलोट विकासखंड में सात मौत हुई हैं। अब तक 13 पशु जान गंवा चुके हैं। वहीं, कृषि विभाग फसलों के नुकसान से संबंधित सर्वे पूरा नहीं कर सका है। बुधवार को भी बारिश से जलजमाव के हालात बने।

must read:आज है टीचर्स डे, शेयर करें Teachers Day 2019 से जुड़ें कोट्स

जिला प्रशासन के सूत्र बताते हैं कि बारिश का सीजन अधिकृत रूप से 15 जून से माना जाता है लेकिन 31 जुलाई तक बहुत ज्यादा बारिश से दिक्कत नहीं हुई थी। जिला प्रशासन ने इसे लेकर कोई आकलन नहीं किया लेकिन 31 जुलाई के बाद से बारिश से फसलों से लेकर मकान, पशु और इंसान तक प्रभावित हुए हैं।

must read: मध्यप्रदेश में अब हरी टी-शर्ट में आएंगे कर्मचारी

Heavy rains continue, cold weather dissolves


90 लाख की संपत्ति का नुकसान

राजस्व विभाग ने बारिश के बाद जिलेभर में हुए नुकसानी का आकलन भी किया है। जिले के सभी पांचों अनुभागों से मिली जानकारी के मुताबिक यह आंकड़ा 90 लाख रुपया पहुंच रहा है जो अपने आप में एक बड़ी रकम कही जा सकती है। सबसे ज्यादा संपत्ति का नुकसान आलोट विकासखंड में ही हुआ है। ये नुकसान पूरे जिले में हुए नुकसान का 50% यानि करीब 50 लाख रुपए है।

must read: मध्यप्रदेश के किसानों में सरकार के खिलाफ गुस्सा

raining damoh Pleasant weather

900 मकानों को पहुंची क्षति
जिले में बीच-बीच में हुई भारी बारिश के दौर में कच्चे और पतरापोश मकानों को भी क्षति पहुंची है। मकानों को क्षति होने का आंकड़ा काफी बड़ा है। अब तक 900 मकान भारी बारिश की वजह से क्षतिग्रस्त हो चुके हैं। मकानों के नुकसान के मामले में भी आलोट विकासखंड सबसे आगे हैं। जिलेभर में 900 मकानों के क्षतिग्रस्त होने में करीब आधे सबसे कम मकानों की क्षति रतलाम ग्रामीण क्षेत्र में हुई है। इतनी भारी बारिश इस सीजन में दर्ज भी नहीं की गई है जबकि आलोट में हुई है।

must read: डस्टबिन रखा हो सही जगह तो मंदी के दौर में भी होगा लाभ

सुबह से शाम तक एक इंच बारिश

बुधवार सुबह तेज धूप के बाद आसमान पर छाये बादल देर रात तक बरसते रहे। वर्ष 2016 के बाद इस साल लोग झड़ी का अहसास कर रहे हैं। अब तो अनुमान लगाया जा रहा है कि रेकार्ड 50 इंच बारिश का भी आंकड़ा पार हो जाएगा, क्योंकि वर्षाकाल का समापन 15 अक्टूबर तक माना गया है और अभी सितम्बर माह की शुरुआत हुई है और औसत से 11 इंच अधिक बारिश हो चुकी है।

must read: अब पटरी टूटने के बाद नई तकनीक से वेल्डिंग, 55 मिनट में होगा सुधार

Weather News : कहीं मूसलाधार बारिश तो कहीं बूंदाबांदी
IMAGE CREDIT: patrika


24 मिमी बारिश हुई
भू-अभिलेख से मिली जानकारी के अनुसार बुधवार सुबह 8 से शाम 5 बजे तक शहर में 24 मिमी (1 इंच) बारिश दर्ज की गई। लोगों को दिन में वाहन की लाइटें जलाना पड़ी। आलोट विकासखंड में इस साल की अब तक सर्वाधिक बारिश 1356 मिमी दर्ज की जा चुकी है। औसत वर्षा कुल जिले में 1141.02 मिमी हो चुकी है, जबकि पिछले साल इस समय तक मात्र 727.08 मिमी बारिश हुई थी, और औसत वर्षा आज दिनांक तक 725.01 मिमी मानी गई है। पिछले साल की तुलना में 413.04 मिमी बारिश अधिक हो चुकी है। आंचलिक क्षेत्रों मेंं बारिश के कारण गांव और खेतों में जलजमाव के हालात बन गए है।

must read: आधीरात को चलती ट्रेन से इंदौर की युवती ने डीआरएम को फोन किया, फिर हुआ ये

Weather Alert : जयपुर में जोरदार बारिश, मौसम विभाग की चेतावनी, अगले तीन दिन प्रदेश में मेहरबान रहेगा मानसून

विकासखंड बारिश मिमी में

आलोट 1293
जावरा 1184
ताल 1231
पिपलौदा 975
बाजना 902
रतलाम 1072
रावटी 1356
सैलाना 1112

must read: VIDEO पहली बार गांधीसागर डैम के गेट खुले, चंबल संभाग में 300 ...

18 deaths due to rain in MP's Ratlam, loss of 90 lakh

नुकसानी की रिपोर्ट तैयार

बारिश के दौरान हुई जनहानि और पशुओं की मृत्यु के साथ ही मकानों के क्षतिग्रस्त होने के मामले में सभी प्रकरण तैयार हो चुके हैं। जनहानि से जुड़े कुछ प्रकरणों में पोस्टमार्टम रिपोर्ट नहीं आने से उनके प्रकरण स्वीकृत नहीं हुए हैं। पीएम रिपोर्ट आने के बाद स्वीकृत कर दिए जाएंगे। शेष सभी प्रकार की नुकसानी का आकलन हो चुका है और सभी पीडि़तों को जल्द ही राहत राशि प्रदान कर दी जाएगी।
- जमुना भिड़े, अपर कलेक्टर, रतलाम

bikaner weather
Show More
Ashish Pathak Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned