हनी ट्रैप : अब तक 6 गिरफ्तार, नेता-अफसरों से बनातीं थी संबंध, वीडियो दिखाकर मांग रहीं थी 3 करोड़

हनी ट्रैप : अब तक 6 गिरफ्तार, नेता-अफसरों से बनातीं थी संबंध, वीडियो दिखाकर मांग रहीं थी 3 करोड़

KRISHNAKANT SHUKLA | Updated: 20 Sep 2019, 08:16:35 AM (IST) Bhopal, Bhopal, Madhya Pradesh, India

नेता-अफसरों से संबंध बनातीं, फिर करती थीं ब्लैकमेल, छह गिरफ्तार
हनी ट्रैप: इंदौर के इंजीनियर से अश्लील वीडियो दिखाकर मांग रहीं थीं तीन करोड़
50 लाख की पहली किस्त लेने इंदौर गई थीं दो महिलाएं
आपत्तिजनक वीडियो भी मिले, जिनमें अन्य से भी संबंध पाए
एनजीओ के जरिए नेताओं और अफसरों से बढ़ाती थीं नजदीकी

भोपाल. प्रदेश में बड़े राजनेता और नौकरशाहों को फंसाकर उन्हें ब्लैकमेल करने वाली महिलाओं के गिरोह का खुलासा हुआ है। यह गिरोह इंदौर निगम के इंजीनियर हरभजन सिंह की शिकायत के बाद सामने आया है। पुलिस ने 5 महिलाओं और उनके कार ड्राइवर को गिरफ्तार कर लिया है।

MUST READ : हनीट्रैप और हाईप्रोफाइल ब्लैकमेलिंग मामले में बड़ा खुलासा

उनसे लैपटॉप, मोबाइल व 14.17 लाख रुपए बरामद किए हैं। हार्ड ***** में अन्य लोगों के आपत्तिजनक वीडियो व फोटो मिले हैं, जिसकी फारेंसिक लैब से जांच कराई जा रही है। जांच में सामने आया कि ये एनजीओ के बहाने नेताओं-अफसरों से संबंध बनाती थीं, फिर उनके अंतरंग संबंधों की अश्लील वीडियो तैयार करती थीं। वे उन्हें ब्लैकमेल कर दो से पांच करोड़ तक वसूलती थीं।

गिरोह की करतूत

इंदौर की एसएसपी रुचिवर्धन के मुताबिक, इंजीनियर हरभजन ने 17 सितंबर को पलासिया थाने में अर्जी दी। इसमें कहा गया कि आरती दयाल अश्लील वीडियो वायरल की धमकी देकर तीन करोड़ मांग रही है। आरती पहली किस्त के 50 लाख लेने कार (एमपी 16 सीबी 4441) से इंदौर पहुंची तो उसे हिरासत में ले लिया।

उसके संग आई मोनिका यादव और कार ड्राइवर ओमप्रकाश कोरी को भी गिरफ्तार कर लिया गया। भोपाल से अन्य को पकडऩे के लिए एटीएस से मदद ली। एटीएस ने श्वेता पति विजय जैन को मिनाल से पकड़ा। उसके घर से 14.17 लाख मिले। फिर रिवेरा से श्वेता स्वप्निल जैन और कोटरा से बरखा अमित सोनी को पकड़ा।

MUST READ : बिटिया @वर्क: किसी ने मस्ती की तो किसी ने मम्मी-पापा से पूछे कई सवाल

honey_trap_case_bhopal.jpg

इंजीनियर से 8 माह पहले मुलाकात

पू छताछ में ब्लैकमेलिंग की यह कहानी बड़ी होती दिखी। भोपाल के मिनाल रेसिडेंस में रहने वाली आरती ने पुलिस को बताया कि उसी की कॉलोनी में रहने वाली सागर की श्वेता जैन ने आठ महीने पहले इंजीनियर से मुलाकात कराई थी। इसके बाद दोनों में बातचीत होने लगी। कुछ समय पहले वह मोनिका के साथ इंजीनियर से मिलने इंदौर गई तो मोनिका ने अंतरंग संबंधों की वीडियो बना ली। वह इंजीनियर को मैसेज कर तीन करोड़ रुपए देने का दबाव बनाने लगी।

बड़े नेताओं और नौकरशाहों से तार जुड़े होने की आशंका

आ रोपी महिलाओं के भाजपा और कांग्रेस के बड़े नेताओं से तार जुड़े होने की आशंका है। इसमें सागर की श्वेता एनजीओ चलाने के साथ ही भाजपा की सदस्य है, वहीं बरखा का पति अमित कांग्रेस के आइटी सेल में प्रदेश उपाध्यक्ष था। उसे 15 जून को हटाया गया था। भोपाल की रेवेरा कॉलोनी निवासी श्वेता व पति स्वप्निल के आइएएस और आइपीएस से संबंध हैं। ये मंत्रालय में सक्रिय रहती हैं। छतरपुर की आरती दयाल के भी अधिकारियों से रिश्ते रहे हैं। सभी एक-दूजे से जुड़ी हैं। गिरफ्तारी से नेताओं और अफसरों में हड़कंप जैसी स्थिति रही।

 

 

विधायक के घर में किराए से रहती थी

श्वेता स्वप्निल एक सितम्बर से भाजपा विधायक बृजेन्द्र प्रताप सिंह के बंगले में 35 हजार प्रतिमाह किराए पर रहने लगी थी। किराएनामे में खुद को फिजियोथैरिपिस्ट बताया। इससे पहले भाजपा विधायक दिलीप सिंह परिहार के बंगले में रही। बृजेंद्र ने कहा, महिला और उसके पति सेे न तो मिला और न ही जानता हूं।

12 जिलों में खड़ा किया नेटवर्क

मुख्य किरदार श्वेता स्वप्निल जैन है। उसका जाल 12 जिलों में है। उनसे 18 महिला जुड़ी हैं। भोपाल-इंदौर में कलेक्टर रह चुके आईएएस ने इन्हें काफी बढ़ाया। इन्हीं के जरिए अफसरों से पहचान हुई। पति स्वप्निल का पूरा सहयोग था। श्वेता विजय जैन नेताओं के ज्यादा करीब थी। उसे एक पूर्व सीएम ने मिनाल में घर दिलाने में सहयोग किया था। दोनों ही एक साथ शिकार तलाश करती थीं। इन्होंने आरती, बरखा और मोनिका को भी जोड़ लिया।

 

1215.jpg

 

किसी को बख्शा नहीं जाएगा : बाला बच्चन
गृहमंत्री बाला बच्चन ने कहा, हनी ट्रैप में जो शामिल होंगे, सामने लाया जाएगा। चाहे वे कितने बड़े व्यक्ति, नेता या अफसर क्यों न हो। सरकार इस पर राजनीति नहीं करना चाहती।

'सरगना भाजपा के
मंत्री गोविंद सिंह ने कहा, सरगना भाजपा कार्यकर्ता है। हर गलत गतिविधि में भाजपा-संघ के लोग ही होतेे हैं। कांग्रेस का कोई नहीं है।

बोलने से बचे शिवराज
पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान हनी ट्रैप कांड पर बोलने से बचते रहे। जब उनसे पूछा तो बोले, कौन सा हनी-मनी, मैं नहीं जानता।

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned