खुशखबरीः रेलवे देने वाला है नई सौगातें, ये नए नियम आपको देंगे बड़ी राहत

खुशखबरीः रेलवे देने वाला है नई सौगातें, ये नए नियम आपको देंगे बड़ी राहत

Manish Geete | Publish: Mar, 14 2018 09:00:00 AM (IST) | Updated: Mar, 14 2018 10:41:20 AM (IST) Bhopal, Madhya Pradesh, India

ध्यप्रदेश के रेल यात्रियों के लिए एक बार फिर रेलवे ने कई सुविधाएं दी हैं। रेलवे ने जहां तत्काल टिकट का रिफंड देना शुरू कर दिया है, वहीं...।


भोपाल। मध्यप्रदेश के रेल यात्रियों के लिए एक बार फिर रेलवे ने कई सुविधाएं दी हैं। रेलवे ने जहां तत्काल टिकट का रिफंड देना शुरू कर दिया है, वहीं महिलाओं के लिए भी लोअर बर्थ कोटा बढ़ा दिया है। अब उम्र के हिसाब से महिलाओं को बर्थ अलाट हो जाएगी।

मध्यप्रदेश के भोपाल, इंदौर, ग्वालियर, इंदौर, जबलपुर और इटारसी रेलवे स्टेशन से लाखों यात्री आते हैं और जाते हैं। इनमें महिलाओं को अक्सर लोअर बर्थ नहीं मिलने से दिक्कतों का सामना करना पड़ता था। रेलवे में यह व्यवस्था भी गड़बड़ थी कि युवा व्यक्ति को लोअर बर्थ दे दी जाती थी, जबकि बुजुर्ग महिला को अपर बर्थ मिलती थी। ऐसी स्थिति में यात्रियों को आपस में आग्रह कर बर्थ बदलना पड़ती थी। इसके अलावा गर्भवती महिलाओं को भी काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता था।

 

 

indian railway new rules

रेलवे ने जारी किया सर्कुलर
सकुर्लर के मुताबिक भारतीय रेलवे ने महिलाओं के लिए लोअर बर्थ कोटा बढ़ा दिया है। इसमें अलग-अलग कैटेगरी के कोचों के हिसाब से अलग-अलग कोटा तय किया गया है। मेल और एक्सप्रेस ट्रेन के सभी स्लीपर कोच में महिलाओं के लिए 6-6 बर्थ रिजर्व रखी जाएगी।

गरीब रथ में भी सुविधा
रेलवे ने महिलाओं के लिए गरीब रथ के थर्ड एसी कोच में भी 6-6 बर्थ 45 साल से ज्यादा उम्र की महिलाओं के लिए रिजर्व कर दी है।

इसके अलावा सभी मेल और एक्सप्रेस ट्रेनों के थर्ड और सेकंड एसी कोच में 3-3 बर्थ रिजर्व की गई है।

राजधानी और दुरंतो के साथ ही एसी ट्रेनों के थर्ड एसी कोच में चार लोअर बर्थ का कोटा तय कर दिया है। इनमें गर्भवति महिलाओं को प्राथमिकता दी जाएगी।

 

indian railway new rules

बनाया नया सॉफ्टवेयर
रेलवे बोर्ड के अनुसार महिलाओं को लोअर बर्थ कंफर्म करने के लिए आईटी ब्रांच ने क्रिप्स के सहयोग से नया सॉफ्टवेयर बनाया है। जो जो महिलाओं के लिए कंफर्म रिजर्वेशन उपलब्ध कराएगा। जल्द इसे शुरू किया जाने वाला है।
-इसके अलावा इ-टिकटिंग में भी अलग से कॉलम दिया जा रहा है।

 

माता-पिता को भेज सकेंगे अपने टिकट पर
अक्सर ऐसे मौके भी आते हैं कि यात्रा का प्लान बदल दिया जाता है। फिर एक यात्री के बदले दूसरा भेजा जाना जरूरी होता है। इसी बात को ध्यान में रखते हुए रेलवे का यह नया नियम आया है। इसके मुताबिक अब कोई भी व्यक्ति अपना कंफर्म टिकट किसी भी रिश्तेदार को दे सकता है। हालांकि यह सुविधा केवल मां-पिता, भाई-बहन, पति-पत्नी, मां-बेटा, पिता-बेटा जैसे ब्लड रिलेशन वाले लोगों के लिए ही होगी। इसके लिए सिर्फ 24 घंटे पहले यात्रा लिखित में आवेदन देना होगा।

 

तत्काल टिकट का पैसा भी मिलेगा वापस
अब तत्काल टिकट का पूरा रिफंड भी आप ले सकते हैं। रेलवे ने इसके लिए 5 शर्तों पर तत्काल टिकट पर 100 प्रतिशतरिफंड देने की व्यवस्था की है।
-नई व्यवस्था के तहत काउंटर और इ-टिकट दोनों पर रिफंड मिलेगा।
-ट्रेन के शुरुआती स्टेशन पर तीन घंटे विलंब से आने, रूट डायवर्ट होने, यात्रियों के बोर्डिंग स्टेशन से ट्रेन के नहीं जाने और कोच के डैमेज होने और बुक टिकट वाली श्रेणी में यात्रा की सुविधा नहीं मिलने पर यात्रियों को 100 प्रतिशत रिफंड मिल जाएगा। यदि यात्री को लोअर श्रेणी में यात्रा की सुविधा मुहैया कराई जाती है, तो रेलवे किराए के अंतर के साथ ही तत्काल का चार्ज भी लौटा देगा।

टिकट पहले लो, पैसा बाद में दो
रेलवे ने यह अपने यात्रियों को यह सुविधा भी दी है कि वे तत्काल कोटे का टिकट पहले बुक करने के बाद में पेमेंट दे सकते हैं। यह सुविधा केवल सामान्य टिकटों की बुकिंग पर उपलब्ध थी, लेकिन अब तत्काल बुकिंग के लिए भी उपलब्ध होगी। 'पे ऑन डिलीवरी' नाम से यह सुविधा होगी।

यूज़र irctc.payondelivery.co.in पर रजिस्ट्रेशन करे के बाद इसका इस्तेमाल कर सकते हैं।

indian railway new rules

MUST READ

Breaking : मोदी सरकार का आरक्षण पर बड़ा फैसला, अब रेलवे में सामान्य वर्ग को भी मिलेगी 7 साल की छूट
बड़ी खबर: रेलवे ने दी नौकरियों में भारी छूट, अब बाकी लोग भी बन सकेंगे रेलवे कर्मचारी
बड़ी खबरः 90 हजार भर्तियों में आरक्षण पर बड़ा फैसला, अब इस वर्ग को भी मिलेगा लाभ

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned