जन-जन तक पहुंचाई जाएगी किसान नेता स्व. कुंभाराम की विचारधारा, प्रदेश भर में चलाया जाएगा अभियान

प्रदेश से ग्राम स्तर तक समिति की इकाईयों का गठन कर किसान वर्ग को एकजुट किया जाएगा। इसके लिए प्रदेशभर में अभियान चलाया जाएगा। इस अभियान के जरिये कुंभाराम की जीवनी पर आधारित प्रकाशित स्मृति ग्रंथ का वितरण किया जाएगा।

By: nakul

Published: 03 Oct 2016, 07:06 PM IST


पूर्व मंत्री व किसान नेता स्व. कुंभाराम आर्य की विचारधारा को जन-जन तक पहुंचाने के लिए अब प्रदेशभर में अभियान चलाया जाएगा। इसके लिए चौधरी कुंभाराम आर्य किसान वर्ग चेतना समिति का गठन किया है। इस समिति की प्रदेश स्तरीय प्रथम बैठक दुर्गापुरा स्थित इन्कम टैक्स कॉलोनी के किसान घाट पर आयोजित की गई। 



बैठक में सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि प्रदेश से ग्राम स्तर तक समिति की इकाईयों का गठन कर किसान वर्ग को एकजुट किया जाएगा। इसके लिए प्रदेशभर में अभियान चलाया जाएगा। इस अभियान के जरिये कुंभाराम की जीवनी पर आधारित प्रकाशित स्मृति ग्रंथ का वितरण किया जाएगा। 



यहां हुई बैठक के दौरान स्व. कुंभाराम आर्य द्वारा किसानों के लिए किए गए कार्यों को आगे बढ़ाने को लेकर चर्चा की गई। समिति की प्रदेश कार्यकारिणी के पदाधिकारियों ने तय किया कि आगामी 26 अक्टूबर को किसान घाट पर स्व. कुंभाराम आर्य की 21 वीं पुण्यतिथि के उपलक्ष में राष्ट्रीय स्तर का कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा। 



समिति की प्रदेश अध्यक्ष अनुष्का आर्य ने बताया कि बैठक में स्व. कुंभाराम आर्य के नाम से किसान यूनियन बनाने, सरकारी योजनाओं का नामकरण उनके नाम से करने, किसान घाट पर भव्य भवन का निर्माण कर किसानों के बेटों को कृषि की उन्नत तकनीकों व कृषि आधारित अन्य औद्योगिक धंधों को बढ़ावा देने के लिए विशेष कार्यशालाएं आयोजित करने के सुझाव मिले। 



उन्होंने बताया कि इन सुझावों को मूर्त रूप देने के लिए समिति प्रदेशभर के किसानों से राय लेगी। किसानों की राय के आधार पर आने वाले समय में किसान नेता के अधूरे सपनों को पूरा किया जाएगा। 



अनुष्का आर्य ने बताया कि संगठन को मजबूत करने के लिए स्व. कुंभाराम आर्य के स्मृति ग्रंथ को किसान व आमजन को वितरित किया जाएगा। इस स्मृति ग्रंथ से प्राप्त हुई जनसहयोग राशि का उपयोग किसान वर्ग के लिए आयोजित होने वाले कार्यक्रमों व किसान घाट के जीर्णोद्वार पर खर्च किया जाएगा। 



इस मौके पर पूर्व विधायक सुचित्रा आर्य, नोहर की पूर्व प्रधान उर्मिला बिजारणिया, समाजसेवी कुंभाराम, गोविंद चौधरी, सतीष दुग्गड़, हरदयाल सिंह, रणजीत रणवां, राजीव चौधरी, विजयपाल आर्य, मोहन चौधरी, भूमिका कृपलानी, रायसिंह गोदारा, धूपसिंह पूनिया, रमेश पूनिया ने किसान वर्ग के लिए जन आदोलन चलाने का सुझाव दिया। बैठक का मंच संचालन रामचंद्र सुडा ने किया।

nakul Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned