चुनाव से पहले पलटी राजनीति .. रालोद-बसपा के इन बड़े दावेदारों ने बदल ली पार्टी, थामा भाजपा का हाथ

Ruchi Sharma

Publish: May, 18 2018 01:09:58 PM (IST)

Lucknow, Uttar Pradesh, India
चुनाव से पहले पलटी राजनीति .. रालोद-बसपा के इन बड़े दावेदारों ने बदल ली पार्टी, थामा भाजपा का हाथ

चुनाव से पहले पलटी राजनीति .. रालोद-बसपा के इन बड़े दावेदारों ने बदल ली पार्टी, थामा भाजपा का हाथ

लखनऊ. कैराना उपचुनाव से पहले राष्ट्रीय लोक दल (रालोद) व बसपा को बड़ा झटका लगा है। लखनऊ स्थित बीजेपी मुख्यालय पर आज शुक्रवार को रालोद के राष्ट्रीय प्रवक्ता चौधरी साहब सिंह व बसपा नेताओं ने भारतीय जनता पार्टी का दामन थाम लिया है। चौ. साहब सिंह अखिलेश सरकार में पशुधन विकास विभाग के सलाहकार भी रहे हैं। साहब सिंह के बीजेपी ज्वाइन करने के बाद राष्ट्रीय लोक दल (रालोद) को जबरदस्त झटका लगा है। वहीं कैराना उपचुनाव से पहले बीजेपी के द्वारा खेले गए इस चुनावी पासे ने विपक्ष की परेशानी को बढ़ा दिया है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र नाथ पांडे के समर्थन में इन नेताअों ने सदस्ता ग्रहण की ।


बता दें कि मौजूदा समय में रालोद का न कोई सदस्य लोकसभा में है और न ही विधानसभा में। ऐसे में कैराना उपचुनाव में रालोद की टिकट पर सपा समर्थित तबस्सुम हसन मैदान में हैं।


ये भी हुए शामिल


इसके साथ ही बसपा के पूर्व नेता चरण सिंह भारती, बसपा के पूर्व जिलाध्यक्ष रजनीकांत जाटव बीजेपी व लोकदल से पूर्व मंत्री साहब सिंह भी शामिल हुए हैं।


आरएलडी उम्मीदवार का समर्थन कर रही है सपा-बसपा


यूपी के कैराना लोकसभा उपचुनाव में बीजेपी को एक बार फिर चित के लिए समर्थन-गठबंधन के फॉर्मूले का समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने पैतरा अपनाया है। बीएसपी से सांसद रही मौजूदा समय में समाजवादी नेता तब्बसुम हसन को कैराना लोकसभा सीट से राष्ट्रीय लोकदल (आरएलडी) के सिंबल पर प्रत्याशी बनाया गया है ।

यह भी पढ़ें- फिल्म शोले की तरह चढ़ गई पानी की टंकी पर .. इस वजह से देना चाहती है जान

यह भी पढ़ें- जल्द ही लखीमपुर में खुलेगा इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक, जानिये क्या क्या मिलेंगी सुविधाएं

 

यह भी पढ़ें- करोड़ों की संपत्ति का मालिक है ये बंदर, रहता था एसी रूम में, फिर हुआ कुछ ऐसा कि..

 

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

Ad Block is Banned