आकाशीय बिजली से घायल हुआ युवक, सड़क न होने से पीड़ित को खाट पर ले जाना पड़ा अस्पताल

कच्ची सड़क बनी ग्रामीणों की मुसीबत...।

By: Faiz

Updated: 13 Sep 2021, 04:41 PM IST

मंडला. ग्रामीण क्षेत्रों को विकास की मुख्य धारा से जोड़ने के लिए प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क, मुख्यमंत्री सुदूर ग्राम सड़क, सीसी रोड समेत अन्य योजनाएं संचालित की जा रही हैं। लेकिन, जमीनी स्तर पर अब भी सैकंड़ों गांव और मजरे टोले सड़क विहीन है। समान्य दिनों में तो जैसे तैसे ग्रामीण काम चला लेते हैं। लेकिन, बारिश का दौर मुसीबत बनकर गुजरता है। यहां तक की जान भी जोखिम में डालने पड़ती है। ऐसा ही एक मामला मोहगांव जनपद पंचायत के अंतग्र्रत देखेने को मिला। जहां आकाशीय बिजली गिरने से घायल युवक को चार पाई में लिटाकर एक किलोमीटर चलकर मुख्य मार्ग पहुंचाया गया।


जानकारी के अनुसार, ग्राम झुरगी पौड़ी के साहू मोहल्ला निवासी सुकल सिंह मरावी खेत में काम करने के दौरान अचानक गिरी आकाशीय बिजली के चपेट में आ गया। जिसे तत्काल अस्पताल पहुंचाना था। गांव की कच्ची सड़क ग्रामीणों के लिए मुसीबत बन कर सामने आई। डायल 100 को बुलाया गया, एम्बुलेंस को भी सूचना दी गई। लेकिन ग्रामीणों को पता था कि, गांव के अंदर तक कोई वाहन नहीं पहुंच सकता। ऐसे में आनन-फानन में ग्रामीणों ने एक खटिया का सहारा लिया और मरीज को कंधे में रखकर एक किलोमीटर दूर पैदल लेकर मुख्य मार्ग तक पहुंचे।

 

पढ़ें ये खास खबर- मंदिर के पुजारी की लाठी-डंडों से पीट पीटकर हत्या, इतनी सी बात पर 4 बदमाशों ने बेरहमी से पीटा


क्या कहता हैं ग्रामीण?

ग्रामीण कमले कुमार, फग्गन मरावी, रूप सिंह, अखिलेश, राहुल कुमार आदि का कहना है कि, आकाशीय बिजली गिरने से घायल हुए युवक को सड़क न होने के चलते खाट पर लिटाकर जिला अस्पताल पहुंचाना पड़ा। उन्होंने कहा कि, ये कोई पहली बार नहीं, बल्कि ग्रामीणों के लिये ऐसी स्थितियां निर्मित होती रहती हैं। बारिश के दिनों में तो भारी मुसीबत होती है। सड़क के लिए अधिकारियों, जनप्रतिनिधियों से अनेक गुहार करने के बाद भी कोई नहीं सुनता है। इस मामले को लेकर मोहगांव जनपद सीईओ आरएस कुशवाहा का कहना है कि, मामले का संज्ञान ले लिया गया है। बारिश के बाद उक्त सड़क का निर्माण कराया जाएगा।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned