महाराष्ट्रः स्वास्थ्य मंत्री ने कोरोना वैक्सीन की किल्लत पर जताई चिंता, कहा-45 वर्ष से ऊपर वालों को कैसे वैक्सीन दें?

स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा कि राज्य चाहता है कि वह अपने लोगों को जल्द से जल्द वैक्सीन की डोज दे, मगर केंद्र सरकार ही ओर से कोई मदद नहीं मिल रही है।

नई दिल्ली। महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने राज्य में चल रहे कोरोना वैक्सीनेशन को लेकर चिंता व्यक्त की है। उन्होंने कहा कि हमनें केंद्र सरकार से राज्य में एक हफ्ते के लिए वैक्सीन डोज की मांग की है ताकि 45 वर्ष से ऊपर वाले सभी लोगों को वैक्सीनेशन लगाई जा सके। मगर राज्य में डोज की कमी बनी हुई है।

Read More: महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख के खिलाफ वसूली मामले में CBI का बड़ा एक्शन, दर्ज की FIR

डायरेक्ट इम्पोर्ट की बातचीत

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि एक मई से राज्य में वैक्सीनेशन को बढ़ाने के लिए राज्य ने सीरम इंस्टीट्यूट और भारत बायोटेक से वैक्सीन डायरेक्ट इम्पोर्ट की बातचीत की है। मगर वे भी इस डिमांड को पूरा करने असमर्थ हैं। इसके बाद हम लगातार केंद्र सरकार से और डोज की मांग कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि राज्य चाहता है कि वह अपने लोगों को जल्द से जल्द वैक्सीन की डोज दे मगर केंद्र सरकार ही ओर से कोई मदद नहीं मिल रही है।

Read More: क्या होती है मेडिकल ऑक्सीजन, कैसे की जाती है तैयार और किन मरीजों को होती है इसकी जरूरत

चार हजार वैक्सीनेशन सेंटर बनाए

महाराष्ट्र में करीब चार हजार वैक्सीनेशन सेंटर बनाए गए है। मगर यहां पर वैक्सीनेशन डोज नहीं है। स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा कि ऐसे में हम वैक्सीनेशन अभियान को कैसे चला सकते हैं। उन्होंने कहा कि एक मई से 18 से 45 वर्ष के लोगों के लिए वैक्सीनेशन प्रग्रोम को चलाने के लिए वन नेशन वन प्राइस के तर्ज पर वैक्सीन पूरे देश में दी जानी चाहिए।

COVID-19 virus
Mohit Saxena
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned