घर को मस्जिद बनाकर लाउडस्पीकर पर अजान देने का आरोप, हिन्दू संगठनों ने जताया विरोध

घर को मस्जिद बनाकर लाउडस्पीकर पर अजान देने का आरोप, हिन्दू संगठनों ने जताया विरोध

Anil Kumar | Publish: Sep, 06 2018 09:47:37 PM (IST) New Delhi, Delhi, India

गुरुग्राम के शीतला कॉलोनी के एक घर को मस्जिद के तौर पर इस्तेमाल करते हुए नमाज पढ़ने और लाउडस्पीकर पर अजान देने का मामला सामने आया है।

नई दिल्ली। राजधानी दिल्ली से सटे गुरुग्राम में बीते दिनों खुले में नमाज पढ़ने को लेकर एक बड़ा विवाद हो गया था। इसे लेकर कई इलकों में हिंसक झड़प और प्रदर्शन भी हुए थे। लेकिन अब एक बार फिर से लगता है यह मामला तूल पकड़ता जा रहा है। दरअसल गुरुग्राम के शीतला कॉलोनी के एक घर को मस्जिद के तौर पर इस्तेमाल करते हुए नमाज पढ़ने और लाउडस्पीकर पर अजान देने का मामला सामने आया है। हिन्दू संगठनों का आरोप है कि घर को मस्जिद के तौैर पर इस्तेमाल किया जा रहा है। घर पर ही लाउडस्पीकर पर अजान दिया जाता है। इस बात को लेकर हिन्दू संगठनों ने बुधवार की रात सेक्टर पांच थाना प्रभारी से इसकी शिकायत की और इसपर फौरन रोक लगाने की मांग की। हिन्दू संगठनों के विरोध को देखते हुए मुस्लिम समुदायों ने भी मंडलायुक्त से मुलाकात की है और अपनी बात रखी है।

दिल्ली: निजामुद्दीन इलाके में दो परिवारों के बीच झड़प, चार महिलाओं ने लगाए छेड़छाड़ के आरोप

हिन्दू संगठनों ने दर्ज कराई शिकायत

आपको बता दें कि हिन्दू संगठनों ने आरोप लगाया है कि शीतला कॉलोनी के एक तीन मंजिला इमारत को बिना मापदंडों को पूरा किए हुए उसे मस्जिद में बदल दिया गया है और वहां पर पांच टाइम के नमाज के अलावा लाउडस्पीकर पर अजान दिया जाता है। मकान के तीनों मंजिलों पर नमाज पढ़ी जाती है। हिन्दू संगठनों का कहना है कि यह स्थान सरकार की ओर से अजान देने के लिए चिन्हित किए गए स्थानों में से नहीं है। बता दें कि बुधवार देर शाम शीतला कॉलोनी निवासियों सहित अखिल भारतीय हिंदू क्रांति दल के राष्ट्रीय प्रभारी राजीव मित्तल, हरियाणा प्रदेश अध्यक्ष चेतन शर्मा, बजरंग दल के जिला संयोजक अभिषेक गौड़, शिवसेना के जिलाध्यक्ष गौतम सैनी, संजय ठकराल, सुनील कुमार सहित अन्य ने मौके पर पहुंचकर विरोध जताया। इधर संगठन पदाधिकारियों की मानें तो थाना प्रभारी ने शिकायत मिलते ही मुस्लिम समुदाय को तुरंत प्रभाव से माइक बंद करने को कह दिया है। हालांकि अभी तक मुसलिम संगठनों की ओर से इस मामले में कोई पक्ष सामने नहीं आया है।

Ad Block is Banned