मुन्ना बजरंगी हत्याकांड: पुलिस के गले नहीं उतर रही ये बात

Rahul Chauhan

Publish: Jul, 13 2018 07:26:30 PM (IST)

Noida, Uttar Pradesh, India
मुन्ना बजरंगी हत्याकांड: पुलिस के गले नहीं उतर रही ये बात

मुन्ना बजरंगी की हत्या के बाद जांच में जुटी एसटीएफ।

बागपत। मुन्ना बजरंगी को जिला जेल में दस गोलियां बरसाकर मौत के घाट उतार दिया गया। मौके से पिस्टल के दस खोके पुलिस ने बरामद किए हैं। साथ ही पुलिस ने वह पिस्टल भी बरामद कर लिया है, जिससे गोलियां चली। लेकिन एक ही पिस्टल से दस गोलियां कैसे चली पुलिस अभी तक इस गुथ्थी को नहीं सुलझा पाई है। एसटीएफ इस बात की गंभीरता से जांच कर रही है। साथ ही खेकड़ा के कार्यवाहक थाना प्रभारी भी जेल जाकर पुछताछ करने में जुटे हैं।

यह भी पढ़ें-बड़ी खबर: मुन्ना बजरंगी की पोस्टमार्टम रिपोर्ट से हुआ सनसनीखेज खुलासा, गोली मारने से पहले उसके साथ हुई थी ये वारदात!

9 जुलाई की सुबह बागपत जेल में चली गोलियों की तड़तड़ाहट आसपास के खेतों में काम कर रहे किसानों ने भी सुनी थी। कई राउॅड फायर किये गये थे। लेकिन ये फायर एक पिस्टल से हुए या दो पिस्टल से ये अभी कोई नहीं जानता। माफिया डॉन मुन्ना बजरंगी की हत्या में एक पिस्टल का प्रयोग हुआ या दो का, यह रहस्य अभी भी बरकरार है। पुलिस को गटर से जो पिस्टल मिली है, वह .32 एमएम की है। इस पिस्टल की मैगजीन में कम से कम आठ गोलियां आती हैं।

यह भी पढ़ें-भाजपा नेता को पेट्रोल डालकर जिंदा जलाने का प्रयास, मचा हड़कंप

अब सवाल यह उठता है कि अगर आठ गोली वाली मैगजीन का प्रयोग इस हत्या में किया गया है, तो दूसरी पिस्टल का भी प्रयोग किया गया होगा। क्योंकि मुन्ना बजरंगी के शव के पास से कारतूसों के दस खोखे बरामद हुए थे। जबकि दूसरी मैगजीन न तो मौके से बरामद की गयी है और न ही कोई दूसरा हथियार वहां पाया गया।

यह भी देखें-योगी सरकार में खुल गई अधिकारियों की पोल, मचा हड़कंप

अब पुलिस को यह आशंका सताये जा रही है कि अगर दूसरी पिस्टल से गोलियां चलाई गयी हैं तो वह दूसरी पिस्टल कहां है। हालांकि प्राप्त प्राप्त जानकारी के मुताबिक मुन्ना के हत्यारोपी सुनील राठी का कहना है कि मुन्ना बजरंगी के पास पिस्टल थी। ऐसे में यह जांच का अहम बिंदु है कि पिस्टल सिर्फ मुन्ना बजरंगी या सुनील राठी के पास थी, या फिर दोनों के पास। इस बिंदु पर भी एसटीएफ जांच कर रही है।

Ad Block is Banned