वो सिसकते रहे, पर नहीं करने दिए मां के अंतिम दर्शन, देखें VIDEO

कोरोना संदिग्ध की दो बार जांच रिपोर्ट नकारात्मक याने की नेगेटिव आई। नियम कहता है कि इस प्रकार के मामले में मरीज को घर जाने की अनुमति मिलना चाहिए, लेकिन रतलाम मेडिकल कॉलेज का प्रशासन एक जांच के लिए और अड़ा रहा व इस बीच मरीज की मौत हो गई। इसके बाद परिवार को अपनी ह मां के अंतिम दर्शन की अनुमति नहीं मिली, जबकि वे सिसकते रहे।

By: Ashish Pathak

Published: 14 Jun 2020, 09:56 AM IST

रतलाम. रतलाम में कोरोना संदिग्ध की दो बार जांच रिपोर्ट नकारात्मक याने की नेगेटिव आई। नियम कहता है कि इस प्रकार के मामले में मरीज को घर जाने की अनुमति मिलना चाहिए, लेकिन रतलाम मेडिकल कॉलेज का प्रशासन एक जांच के लिए और अड़ा रहा व इस बीच मरीज की मौत हो गई। इसके बाद परिवार को अपनी ह मां के अंतिम दर्शन की अनुमति नहीं मिली, जबकि वे सिसकते रहे। इसके बाद नाराज परिवार ने पूरे मामले की जांच की मांग की तो कलेक्टर ने भी घटना को गंभीर मानते हुए जांच के आदेश दिए है।

रेलवे बंद करेगी इन ट्रेन को, आपके शहर की भी ट्रेन शामिल

रतलाम जिले के जावरा एक महिला बीमार होने पर स्थानीय चिकित्सकों के पास गई। महिला को चिकित्सक ने कोरोना का संदिग्ध मानते हुए रतलाम मेडिकल कॉलेज में जांच की सलाह दी। महिला को एक बार १४ दिन के लिए क्वारंटीन कर दिया गया। इस बीच जांच रिपोर्ट नेगेटिव आई। इसके बाद महिला को उसके घर भेज दिया गया। इसके बाद जब फिर महिला की तबियत खराब हुई तो फिर से मेडिकल कॉलेज लाया गया। इसके बाद फिर से महिला को भर्ती करते हुए जांच क गई। एक बार फिर से महिला की रिपोर्ट नेगेटिव ही आई।

अपने घर का सपना होगा पूरा

रिपोर्ट नेगेटिव, और हो गई मौत
इन सब के बीच जब रतलाम के मेडिकल कॉलेज में महिला भर्ती रही, रिपोर्ट नेगेटिव आई। नियम कहता है कि रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद महिला को छूट्टी दे देना चाहिए थी, लेकिन यह नहीं हुआ। इस बीच परिवार के सदस्यों ने फोन लगाकर मां से बात करने की इच्छा प्रकट की, लेकिन मेडिकल कॉलेज के प्रशासन ने व्यस्तता की बात कहते हुए बात कराने से भी इंकार कर दिया। इसी बीच मां की मौत हो गई।

48 घंटो में भारी बारिश की चेतावनी, देर रात भी हुई वर्षा

अंतिम दर्शन भी नहीं कर पाए
परिवार के सदस्य अपनी मां के अंतिम दर्शन भी नहीं कर पाए। मौत की सूचना मिलने पर जब परिवार अंतिम क्रिया का सामान लेकर पहुंचा तो उनको रोक दिया गया। महिला का अंतिम संस्कार कोरोना वायरस के मरीज के प्रोटोकॉल के अनुसार किया गया। परिवार के सदस्य इस बात से नाराज है कि उनको मां के अंतिम दर्शन नहीं करने दिए गए। इसी बीच पूरे मामले की कलेक्टर को शिकायत हुई तो कलेक्टर रुचिका चौहान ने जांच के आदेश दिए है।

भारतीय रेलवे ने फिर बदले ट्रेन टिकट रिजर्वेशन के नियम

मानसून में बदलाव के साथ बारिश की चेतावनी

200 ट्रेन BREAKING : रेलवे ने जारी किया टाइम टेबल

रेलवे का तोहफा : रेलवे ने किया टिकट आरक्षण के नियम में बदलाव, 24 मई से होंगे लागू

इस दिन से बदलेगा आपके शहर में वेदर, होगी झमाझम बारिश

मानसून के पहले ही शुरू हो जाएगी भारी बारीश

how to win with corona virus
Corona virus
Show More
Ashish Pathak Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned