घर में छिपा था निजामुद्दीन मरकज से लाैटा जमाती, सर्विलांस से हुआ ट्रैस, अब पूरा परिवार खतरे में

Highlights

  • पुलिस प्रशासन काे नहीं दी काेई भी जानकारी
  • सर्विलांस सिस्टम से पकड़ में आया जमाती
  • सूचना छिपाकर पूरे परिवार काे खतरे में डाला

By: shivmani tyagi

Updated: 10 Apr 2020, 12:10 PM IST

सहारनपुर। कोरोना ( Covid 19 ) के खतरे को अभी भी लोग गंभीरता से नहीं ले रहे। इसका खुलासा सहारनपुर पुलिस की कार्रवाई में हुआ है। COVID-19 ऐप के जरिए सहारनपुर की सर्विलांस टीम ने एक ऐसे व्यक्ति को तलाश किया है जो निजामुद्दीन मरकज से लाैटने के बाद अपने घर में ही रहा था।

यह भी पढ़ें: लॉकडाउन के चलते इस साल नहीं सताएगी भीषण गर्मी, अप्रैल की शुरुआत में ही टूटा 15 साल का रिकॉर्ड

इस जमाती ने अपने साथ-साथ अपने परिवार काे भी कोरोना संक्रमण के खतरे में डाल दिया है। बार-बार कहने के बाद भी इसने स्वास्थ्य विभाग या पुलिस प्रशासन को यह जानकारी नहीं दी। अब सर्विलांस टीम ने इसे ट्रैस किया है। इस व्यक्ति को क्वॉरेंटाइन कर दिया गया है। आशंकित खतरे काे देखते हुए इसके परिवार के 12 सदस्यों काे भी हाेम क्वॉरंटाइन किया गया है।

यह भी पढ़ें: Lockdown: गांधी समाधि स्थल पर जुटे धर्मगुरु, बोले— हम न हिंदू हैं न मुसलमान, हम हिन्दुस्तान हैं

कोरोना संक्रमण ( COVID-19 virus ) के खतरे के बीच जो लोग पिछले दिनों यात्रा करके लौटे हैं या निजामुद्दीन मरकज गए थे उन सभी की तलाश की जा रही है। बार बार उनसे अपील की जा रही है कि अगर वह निजामुद्दीन मरकज गए हों तो तुरंत अपनी सूचना प्रशासन को या स्वास्थ्य विभाग को दें। उनके खिलाफ कोई कार्यवाही नहीं होगी उनका इलाज कराया जाएगा, ताकि वह सुरक्षित रहें और उनके परिवार के लोग भी सुरक्षित रह सकें।

यह भी पढ़ें: राहत: मुरादाबाद में डॉक्टरों की मेहनत लायी रंग, कोरोना संक्रमित युवती की दूसरी रिपोर्ट भी आई निगेटिव, आज होगी डिस्चार्ज

बावजूद इसके लापरवाही इस हद तक है कि लाेग छिपे बैठे हैं और अब उन्हे ट्रैस करना पड़ रहा है। सर्विलांस टीम काे पता चला कि, थाना कुतुबशेर क्षेत्र के 62 फुटा रोड स्थित चांद कॉलोनी में एक व्यक्ति निजामुद्दीन मरकज गया था। वह इन दिनों अपने परिवार के साथ घर में ही रह रहा था। सूचना पर तुरंत नगरीय क्षेत्र की क्वारंटीऩ सचल दल के प्रमुख एमपी सिंह चावला काे चांद कालाेनी भेजा गया। इस व्यक्ति के घर जाकर टीम ने पूछताछ की तो इसने कोई जानकारी नहीं दी और यही कहा कि दादरी और गाजियाबाद गया था। वहां से सीधे घर लाैट आया था। इस तरह इस जमाती ने अपनी जानकारी छिपाने की कोशिश की।

यह भी पढ़ें: Lockdown: सब्जी नहीं लाने पर दंपती में हुआ विवाद, बच्चे बोले— मम्मी ने लगा ली आग

जब इस व्यक्ति से विस्तार से बात की गई तो इसने बताया कि, निजामुद्दीन मरकज गया था और उसके बाद से घर आकर अपने परिवार के साथ रह रहा था। इसका यह भी कहना है कि इसमें कोई लक्षण नहीं हैं इसलिए इसने काेई जानकारी स्वास्थ्य विभाग को नहीं दी थी। इस जमाती की यह लापरवाही उजागर होने के बाद इसे तुरंत तुरंत किया गया और इसके पूरे परिवार को भी घर पर ही क्वारंटाइन करा दिया गया।

यह भी पढ़ें: ग्राउंड रिपोर्ट: सिलिंग के दौरान चरमराई व्यवस्था, लोगों को दूध और जरूरी सामान की किल्लत

एक जिम्मेदार मीडिया संस्थान होने के नाते हम आपसे अनुरोध करते हैं कि अगर आप भी पिछले दिनों यात्रा पर गए थे या निजामुद्दीन मरकज गए थे तो इस बात को छुपाए नहीं। इसकी जानकारी तुरंत पुलिस को दें या फिर स्वास्थ्य विभाग को दें। खुद स्वस्थ रहें और अपने परिवार को भी स्वस्थ रखें। अगर आप इस जानकारी को छुपाएंगे ताे ऐसे में आप और आपका परिवार दोनों ही महामारी की चपेट में आ सकते हैं। इससे हालात बिगड़ सकते हैं और मौत भी हो सकती है।

COVID-19 COVID-19 virus कोरोना वायरस
shivmani tyagi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned