शराब पर राजनीतिक बयानबाजी के बाद सख्त हुई पुलिस

शराब पर राजनीतिक बयानबाजी के बाद सख्त हुई पुलिस
शराब पर राजनीतिक बयानबाजी के बाद सख्त हुई पुलिस

Dinesh M.Trivedi | Updated: 10 Oct 2019, 12:44:43 PM (IST) Surat, Surat, Gujarat, India

surat news :
- सूरत में पुलिस की दस टीमों ने भट्टियों और बिक्री के अड्डों पर मारे छापे, सौ से अधिक मामले दर्ज किए, ९५ गिरफ्तार - Police becomes tough after political rhetoric on alcohol - Ten police teams raid furnaces and sales bases in Surat, over a hundred cases registered, 95 arrested - शराब पर राजनीतिक बयानबाजी के बाद सख्त हुई पुलिस

सूरत. प्रदेश में शराबबंदी के प्रभावी अमल को लेकर राजनीतिक बयानबाजी के बीच बुधवार को शहर पुलिस ने सख्ती दिखाते हुए व्यापक स्तर पर कार्रवाई की। नव नियुक्त पुलिस आयुक्त राजेन्द्र ब्रह्मभट्ट के दिशा निर्देशन में पुलिस ने दस अलग-अलग टीमें बना कर देशी शराब की भट्टियों और अंग्रेजी शराब के अड्डों पर छापे मारे। इन टीमों ने सौ से अधिक मामले दर्ज कर देशी-विदेशी शराब और शराब तैयार करने की सामग्री जब्त की।

गुजरात सीएम बोले, 'सीएम गहलोत ने किया 6 करोड़ गुजरातियों का अपमान, माफ़ी मांगे'

क्राइम ब्रांच के सूत्रों का कहना है कि इस कार्रवाई के लिए एसओजी, पीसीबी और डीसीबी की दस टीमें बनाई गई थीं, जिन्होंने मंगलवार देर रात से सचिन, सचिन जीआइडीसी, पांडेसरा और खडोदरा थाना क्षेत्रों में अलग-अलग स्थानों पर कार्रवाई की।

Ahmedabad News शराबबंदी पर गहलोत के विवादास्पद बयान पर गुजरात के सीएम ने दिया ऐसा जवाब

शराब पर राजनीतिक बयानबाजी के बाद सख्त हुई पुलिस

व्यापक स्तर पर लिस्टेड और संदिग्ध बूटलेगरों के ठिकानों पर छापे मारे गए। इस कार्रवाई में ८०२ लीटर देशी शराब, १२ हजार ९२० लीटर शराब तैयार करने के लिए इस्तेमाल किया जाने वाला गुड़ का रसायन, २४० अंग्रेजी शराब की बोतलें, भट्टियों में शराब तैयार करने की सामग्री जब्त की गई। पुलिस ने १०० से अधिक मामले दर्ज कर ९५ लोगों को गिरफ्तार किया, जबकि ५ अन्य वांछित बताए जा रहे हैं।

शराबबंदी पर गहलोत का गुजरात सीएम पर ट्वीट वार, कहा: शराब तस्करी रोकने के लिए रूपाणी पड़ोसियों से करें अनुरोध

गौरतलब है कि राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने गुजरात में शराब बंदी प्रभावी नहीं होने को लेकर सवाल उढाते हुए तंज कसे थे। जिस पर मुख्यमंत्री विजय रूपाणी व भाजपा नेताओं ने भी तीखी प्रतिक्रिया दी थी।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned