अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को कोर्ट से झटका, ट्विटर पर किसी यूजर्स को नहीं कर पाएंगे ब्लॉक

अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को कोर्ट से बड़ा झटका, अपने ट्विटर अकाउंट पर अब नहीं कर पाएंगे किसी यूजर्स को ब्लॉक

By: धीरज शर्मा

Published: 24 May 2018, 09:55 AM IST

वॉशिंगटन। ट्विटर पर किसी यूजर को ब्लॉक करना एक नागरिक की अभिव्यक्ति के अधिकारों का उल्लंघन है। ये फैसला है अमरीका की एक संघीय अदालत का...और ये फैसला सुनाया गया है किसी और के लिए नहीं बल्कि देश के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के लिए। जी हां कोर्ट के इस फैसले के बाद अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप अब ट्विटर पर किसी भी यूजर को ब्लॉक नहीं कर सकेंगे। दरअसल न्यूयॉर्क सदर्न डिस्ट्रिक्ट जज ने सात ट्विटर फॉलोअर्स के एक समूह की याचिका पर सुनवाई करते हुए यह फैसला दिया है।

किम जोंग-डोनाल्ड ट्रंप की मुलाकात पर संकट के बादल, टल सकती है प्रस्तावित बैठक

याचिकाकर्ताओं ने खटखटाया कोर्ट का दरवाजा
आपको बता दें कि अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के करीब 7 ट्विटर फॉलोअर्स की सभी याचिकाकर्ताओं को अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ब्लॉक कर दिया था, ऐसे में राष्ट्रपति की ओर से ब्लॉक किए जाने के बाद इन सभी ने कोर्ट का दरवाजा खटखटाया और अपनी शिकायत याचिका दाखिल की थी।

नवाज शरीफ का बड़ा आरोप, कहा- मुशर्रफ के खिलाफ देशद्रोह का मामला शुरू करने पर अब मुझे मिल रही है सजा
कोर्ट ने 75 पन्नों में सुनाया अपना फैसला
कोर्ट ने अपने फैसले में इस बात का जिक्र किया है कि संविधान में संशोधन किए बिना इस तरह का कुछ भी करना सही नहीं है। कोर्ट ने 75 पन्नों के अपने फैसले में यह भी कहा कि किसी भी ट्विटर यूजर को उसके राजनीतिक विचारों को अभिव्यक्त करने से महज इस आधार पर रोकना कि वह अमरीका के राष्ट्रपति हैं, ठीक नहीं है।
ट्रंप को कोर्ट का सुझाव
अमरीकी राष्ट्रपति के ट्विटर पर 5 करोड़ एक्टिव यूजर्स हैं...ऐसे में कोर्ट ने अपना फैसला देते हुए उन्हें कुछ सुझाव भी दिए हैं। कोर्ट ने कहा है कि ट्विटर पर आपको किसी का जवाब दुखी या आहत करता है तो उसे ब्लॉक करने की बजाय नजरअंदाज करें। कोर्ट ने ये भी साफ किया है कि कोई भी सरकार कानून से बढ़कर नहीं है। अमरीकी राष्ट्रपति के ट्विटर पर 5 करोड़ एक्टिव यूजर्स हैं।

याचिकाकर्ताओं ने किया फैसले का स्वागत
राष्ट्रपति के खिलाफ कोर्ट का दरवाजा खटखटाना कोई आम बात नहीं है। इस तरह के काम के लिए निश्चित रूप से हिम्मत की जरूरत होती है और जब इसमें सफलता मिल जाए तो खुश होना लाजमी है। कुछ ऐसा ही हुआ है इन याचिकाकर्ताओं के साथ। इन याचिकाकर्ताओं ने कोर्ट के फैसले का स्वागत किया है। याचिकाकर्ताओं में से एक जमील जाफर ने अदालत के फैसले का स्वागत करते हुए कहा कि, 'हम किसी नए कम्यूनिकेशन प्लैटफॉर्म पर सरकार की सेंसरशिप के खिलाफ कोर्ट के फैसले से संतुष्ट हैं।
आपको बता दें कि अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप अपने ट्विटर अकाउंट के जरिये न सिर्फ अपनी नीतियों और एजेंडों को जनता के सामने रखते हैं बल्कि इसका इस्तेमाल वे आलोचना करने या फिर आलोचकों को जवाब देने में भी करते हैं...हालांकि इन 7 याचिकाकर्ताओं के केस में ट्रंप ने उनकी आलोचना का जवाब देने के बजाय उन्हें ब्लॉक ही कर दिया था, ऐसे ने इन यूजर्स ने कोर्ट का दरवाजा खटखटाया।

Donald Trump US President Donald Trump
Show More
धीरज शर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned