भोजपुरी फिल्म 'संघर्ष' ने धोया अश्लीलता का दाग, ऐसी है इसकी कहानी
Rahul Yadav
Publish: Sep, 02 2018 03:50:07 (IST)
भोजपुरी फिल्म 'संघर्ष' ने धोया अश्लीलता का दाग, ऐसी है इसकी कहानी

फिल्म 'संघर्ष' ने फिल्मों पर लगे अश्लीलता के दाग को धोकर एक नई क्रांति लाई है।

भोजपुरी फिल्मों को अभी तक अश्लीलता परोसने के लिए जाना जाता रहा है, जिसके कारण क्रीटिक्स भी इन फिल्मों कोे परिवार के साथ बैठकर नहीं देखने की सलाह देते थे लेकिन इस बार तो भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री में कुछ अलग ही देखने को मिला। हाल ही में रवि किशन की फिल्म 'सनकी दरोगा' रिलीज की गई थी,जो कि महिलाओं के साथ होे रहे अपराधों पर आधारित थी। ऐसे में अब खेसारी की फिल्म 'संघर्ष' पिछले हफ्ते रिलीज हुई है, जो कि बॉक्स ऑफिस पर जबरदस्त धमाल मचा रही है। दिलचस्प बात तो ये है कि इस फिल्म ने सबको चौंका ही दिया है। सभी दुविधा में हैं कि भोजपुरी में इतना बड़ा बदलाव कैसे। इस पर काजल राघवानी ने भी बड़ा बयान दिया है।

'संघर्ष' ने धोया अश्लीलता का दाग

भोजपुरी सिनेमा की सफल अभिनेत्री काजल राघवानी ने हाल ही में फिल्म के प्रमोशन के दौरान कहा कि जिस तरह भोजपुरी सिनेमा के तीसरे दौर की शुरुआत में मनोज तिवारी की फिल्म 'ससुरा बड़ा पैसावाला' से एक क्रांति आई थी, उसी तरह फिल्म 'संघर्ष' ने फिल्मों पर लगे अश्लीलता के दाग को धोकर एक नई क्रांति लाई है। उन्होंने कहा कि फिल्म 'संघर्ष' ने अश्लीलता मुक्त फिल्म का गहरा संदेश दिया है।

सितंबर माह में ये बड़ी फिल्में होंगी रिलीज, जानें इनकी कहानी

Sangharsh Movie

ऐसी है फिल्म की कहानी
उल्लेखनीय है कि 'बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ मुहीम पर आधारित फिल्म 'संघर्ष' में खेसारी लाल यादव के साथ काजल राघवानी, ऋतु सिंह और निझा झा नजर आ रहे हैं। फिल्म के प्रमोशन में काजल के साथ भोजपुरी फिल्मों के नायक अवधेश मिश्रा, निर्देशक पराग पाटिल, निर्माता रत्नाकर कुमार और पीआरओ रंजन सिन्हा भी शामिल हुए। फिल्म को लेकर बातचीत करते हुए अवधेश मिश्रा ने भी बताया, 'इस फिल्म ने साफ-साफ संकेत दिया है कि दर्शकों के बीच वही फिल्में चलेंगी, जो बगैर अश्लीलता के बनी हों और उसका कंटेंट दमदार हो।'

ऋषि कपूर की इन पांच हिट फिल्मों ने बॉक्स ऑफिस पर मचाया था धमाल