संसद का मानसून सत्र जुलाई में होगा शुरू, 16 जून से शुरू होगी संसदीय समिति की बैठक

केंद्र सरकार जुलाई के मध्य में संसद के मानसून सत्र का आयोजन करने की तैयारी कर रही है। सूत्रों के अनुसार, संसद का मानसून सत्र जुलाई में शुरू होगा और संसदीय समितियों का कामकाज 16 जून से शुरू होने की उम्मीद की जा रही है।

नई दिल्ली। केंद्र सरकार जुलाई के मध्य में संसद के मानसून सत्र का आयोजन करने की तैयारी कर रही है। सूत्रों के अनुसार, संसद का मानसून सत्र जुलाई में शुरू होगा और संसदीय समितियों का कामकाज 16 जून से शुरू होने की उम्मीद की जा रही है। लोक लेखा समिति की बैठक 16 जून को बुलाई गई है। वहीं, 23 जून को श्रम मामलों की संसदीय समिति की बैठक होगी। अप्रैल-मई में पांच राज्यों में हुए विधानसभा चुनाव के प्रचार के लिए मार्च में संसद के बजट सत्र की अवधि घटा दी गई थी। पिछले साल कोरोना के कारण संसद के शीत और बजट सत्र का एक साथ आयोजन किया गया था। सरकार के पास कई महत्वपूर्ण विधेयक हैं जो कि आगामी सत्र में पेश करेगी। वहीं, जबकि विपक्ष विवादास्पद कृषि कानूनों को निरस्त करने पर चर्चा की मांग कर रहा है, जिसके विरोध में महीनों से प्रदर्शन जारी है।

यह भी पढ़ें :— Patrika Positive News: मसीहा से कम नहीं जग्गा पहलवान, कंधों पर लेकर जाते सिलेंडर, हाथों से खिलाते हैं खाना


बैठक में होगी तारीखें तय
एक रिपोर्ट के अनुसार, संसदीय मामलों के मंत्री प्रहलाद जोशी ने ने कहा कि सदन की कार्यवाही की बारिकियों को लेकर अभी और काम करने की जरूरत है लेकिन हम सामान्य सत्र आयोजित करने की उम्मीद रखते हैं। जोशी ने कहा कि वे आशान्वित है कि संसद सत्र जुलाई में शुरू होकर सामान्य कार्यक्रम के हिसाब से चलेगा। सूत्रों के अनुसार, सत्र पूरी अवधि का होगा या फिर पूरे चार हफ्तों का होगा। उन्होंने कहा कि सदन की कार्यवाही बुलाने का काम सरकार का है और केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह की अध्यक्षता वाली संसदीय मामलों की कैबिनेट समिति सदन की कार्यवाही की तारीख तय कर सकती है।

 

यह भी पढ़ें :— तीसरी लहर से पहले खुशखबरी: इस महीने आ सकती है बच्चों की स्वदेशी वैक्सीन, टीके के तीसरे चरण का परीक्षण पूरा

सभी एहतियात बरते जाएंगे
आगामी सत्र को लेकर प्रशासन सभी एहतिया बरते जाएंगे। इसमें कि समय पर टेस्टिंग, विजिटर्स पर पाबंदी और परिसर में स्टाफ का सीमित प्रवेश। खबरों के अनुसार, संसद परिसर में प्रवेश करने वाले लोगों के पास वैक्सीनेश का सर्टिफिकेट होना अनिवार्य हो सकता है। जुलाई में यह सत्र आयोजित करने का पूरा विश्वास है। अधिकतर सांसदों, लोकसभा और राज्यसभा सचिवालयों के ज्यादातर कर्मियों एवं अन्य संबंधित पक्षों को कोरोना वायरस टीके की कम से कम एक खुराक तक लग चुकी है।

चार नए राज्यसभा सदस्यों ने ली शपथ
आपको बता दें कि राज्यसभा के चार नए सदस्यों ने मंगलवार को संसद के उच्च सदन की सदस्यता की शपथ ली है। इनमें स्वप्न दासगुप्ता और महेश जेठमलानी भी शामिल हैं जिन्हें हाल ही में राज्यसभा के लिए मनोनीत किया गया है। दासगुप्ता और जेठमलानी के अलावा माकपा के जान ब्रिटास और वी. शिवदासन ने भी शपथ ली। कोरोना वायरस के हालात को देखते हुए राज्यसभा के चैम्बर में शपथ ग्रहण कराई गई।

Shaitan Prajapat
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned