scriptKabul Airport Blast: US Pentagon confirms explosion in Afghanistan, ma | Kabul Airport Blast: यूएस मरीन समेत 13 की मौत, ब्रिटेन में इमरजेंसी मीटिंग, फ्रांस ने वापस बुलाया राजदूत | Patrika News

Kabul Airport Blast: यूएस मरीन समेत 13 की मौत, ब्रिटेन में इमरजेंसी मीटिंग, फ्रांस ने वापस बुलाया राजदूत

 

 

Kabul Airport Blast: काबुल एयरपोर्ट के बाहर डबल बम ब्लास्ट के बाद से पूरी दुनिया सकते में है। फ्रांस ने बड़ा एक्शन लेते हुए अपने राजदूत तक को वापस बुला लिया है। इजरायली पीएम और अमरीकी राष्ट्रपति जो बाइडेन के साथ होने वाली बैठक को भी आगे के लिए टाल दिया गया है।

नई दिल्ली

Updated: August 27, 2021 12:23:26 am

नई दिल्ली। अफगानिस्तान में काबुल के हवाई अड्डे के बाहर लगातार दो धमाकों से पूरी दुनिया सन्न रह गई है। काबुल एयरपोर्ट के बाहर बम ब्लास्ट्स की घटना में अमरीकी नागरिकों समेत 13 लोगों की मौत हुई और 70 से ज्यादा लोग घायल हुए हैं। बम धमाकों से पहले अमरीका, ब्रिटेन और ऑस्ट्रेलिया जैसे देशों ने आईएसआईएस आतंकी हमले की आशंका भी जताई थी। अब ब्रिटेन ने ब्लास्ट की घटना के बाद इमरजेंसी बैठक बुलाई है। वहीं इजरायली प्रधानमंत्री की अमरीकी राष्ट्रपति जो बाइडन के साथ होने वाली बैठक को भी टाल दिया गया है। काबुल एयरपोर्ट ब्लास्ट के बाद तालिबान, भारत सरकार और अमरीका ने ISIS पर शक जताया है।
Kabul Airport Blast
Kabul Airport Blast
धमाके के बाद फ्रांस का बड़ा एक्शन
काबुल एयरपोर्ट के पास डबल ब्लास्ट के बाद फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने कहा है कि फ्रांस अफगानिस्तान से अपने राजदूतों को वापस बुलाएगा। अब ये राजदूत पेरिस से काम करेंगे। फ्रांस काबुल से अफगानों को निकालने की कोशिश जारी रखेगा।
एयरपोर्ट के पास बैरन होटल में ब्लास्ट की सूचना
स्थानीय मीडिया ने जानकारी दी है कि काबुल हवाई अड्डे के बाहर दोहरे विस्फोटों में बच्चों समेत कम से कम 13 लोगों की मौत हुई है। अल जजीरा ने काबुल एयरपोर्ट के पास बैरन होटल में बम विस्फोट की सूचना दी है।साथ ही अल जजीरा के मुताबिक काबुल एयरपोर्ट ब्लास्ट में 70 लोग घायल हुए हैं।
यह भी पढ़ें

ऐसे तैयार हुआ आतंकी ISIS Khorasan group, फिर कर सकता है काबुल एयरपोर्ट पर हमला, US ने जारी किया अलर्ट

अमरीका, ब्रिटेन और ऑस्ट्रेलिया ने जारी किया अलर्ट
काबुल एयरपोर्ट पर आतंकी हमले के बाद अमरीका, ब्रिटेन और ऑस्ट्रेलिया ने अलर्ट जारी कर दिया है। तीनों देशों ने अपने नागरिकों को एयरपोर्ट से दूर सुरक्षित क्षेत्रों में जाने को कहा है। वहीं अमरीकन एम्बेसी ने अपने नागरिकों को एयरपोर्ट से हटने को कहा है। साथ ही सैनिकों को अलट पर रहने का निर्देश दिया है।
विस्फोट के वक्त जारी था लोगों को एयरलिफ्ट करने का काम
गुरुवार को काबुल हवाई अड्डे के बाहर बम विस्फोट की घटना की पेंटागन ने पुष्टि करते हुए कहा है कि काबुल हवाई अड्डे के बाहर एक बड़ा विस्फोट हुआ है। बम विस्फोट की घटना उस समय हुई जब एयरपोर्ट परिसर के अंदर अमरीका के नेतृत्व में लोगों को एयरलिफ्ट कर बाहर भेजने का काम जारी थी। पेंटागन के प्रवक्ता जॉन किर्बी ने कहा कि इस समय हताहतों की संख्या स्पष्ट नहीं है। हम अतिरिक्त जानकारी सूचना मिलने पर जारी करेंगे।
यह भी पढ़ें

Kabul Airport पर भूख से लोग बेहाल, 3000 रुपए में पानी की बोतल तो चावल की एक प्लेट 7500 रुपए की

आत्मघाती हमला
वहीं सीएनएन ने तीन अमरीकी अधिकारियों के हवाले से बताया है कि काबुल के हवाई अड्डे के बाहर विस्फोट एक प्रवेश द्वार पर हुआ है। यह एक आत्मघाती हमला जैसा है। अमरीकी अधिकारियों ने बताया है कि घायलों में अमरीकी सेवा के सदस्य भी शामिल हो हैं। अधिकारी ने शुरुआती जानकारी का हवाला देते हुए बताया है कि फिलहाल तीन अमरीकी सैनिकों के घायल होने की सूचना है। वहीं तुर्की के रक्षा मंत्रालय ने जानकारी दी है कि काबुल एयरपोर्ट के बाहर दो विस्फोट हुए हैं। मौके पर मौजूद तुर्की सेवा के सदस्यों को कोई नुकसान नहीं हुआ है।
व्हाइट हाउस के अधिकारियों ने दी बाइडेन को डिटेल जानकारी

व्हाइट हाउस के एक अधिकारी ने कहा है कि सीएनएन रिपोर्ट कर रहा है कि अमरीकी राष्ट्रपति जो बाइडेन को इस घटना की जानकारी डिटेल में दी गई है।
यह भी पढ़ें

Kabul Attack: बिडेन की आतंकियों को चेतावनी- हम भूलेंगे नहीं, माफ भी नहीं करेंगे, खोज-खोजकर शिकार करेंगे और तुम्हें मारेंगे

हवाई अड्डे के बाहर हजारों की संख्या में जमा हैं लोग
इस महीने की शुरुआत में तालिबान ने अफगानिस्तान की सत्ता पर कब्जा करने के बाद से वहां से हजारों की संख्या में लोग हवाई सेवा से पश्चिम देशों तक पहुंचने के लिए पिछले कई दिनों से जमा हैं। पलायन का सिलसिला जारी है। घटना के समय भी एयरपोर्ट के बाहर काफी संख्या में लोग जमा थे।
अमरीका ने लोगों से की थी सुरक्षित स्थानों पर जाने की अपील
इससे पहले इस्लामिक स्टेट ( आईएस ) के आतंकवादियों द्वारा आतंकवादी हमले की संभावना को को ध्यान में रखते हुए अमरीका और सहयोगी देशों ने लोगों से काबुल हवाई अड्डे से दूर जाने की अपील की थी। अमरीका और नाटो देशों की सेनाएं 31 अगस्त से पहले अधिक से अधिक लोगों को वहां से बाहर निकालने में जुटी है। अफगान की सत्ता पर तालिबान नेतृत्व ने अमरीका को 31 अगस्त तक काबुल हवाई अड्डा खाली करने और अपने सैनिकों की वापसी अभियान को हर हाल में समाप्त करने कहा है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

नाम ज्योतिष: ससुराल वालों के लिए बेहद लकी साबित होती हैं इन अक्षर के नाम वाली लड़कियांभारतीय WWE स्टार Veer Mahaan मार खाने के बाद बौखलाए, कहा- 'शेर क्या करेगा किसी को नहीं पता'ज्योतिष अनुसार रोज सुबह इन 5 कार्यों को करने से धन की देवी मां लक्ष्मी होती हैं प्रसन्नइन राशि वालों पर देवी-देवताओं की मानी जाती है विशेष कृपा, भाग्य का भरपूर मिलता है साथअगर ठान लें तो धन कुबेर बन सकते हैं इन नाम के लोग, जानें क्या कहती है ज्योतिषIron and steel market: लोहा इस्पात बाजार में फिर से गिरावट शुरू5 बल्लेबाज जिन्होंने इंटरनेशनल क्रिकेट में 1 ओवर में 6 चौके जड़ेनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

अमृतसर से ISI के दो जासूस गिरफ्तार, पाकिस्तान भेजते थे भारतीय सेना से जुड़ी खुफिया जानकारीहरियाणा के झज्जर में फुटपाथ पर सो रहे मजदूरों को ट्रक ने कुचला, 3 की मौत 11 घायलभाजपा राष्ट्रीय पदाधिकारी बैठक : आज जयपुर आएंगे राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा, एयरपोर्ट से कूकस तक 75 स्वागत द्वार तैयारBharatpur Road Accident: भीषण सड़क हादसे में 5 लोगों की मौत, मचा हाहाकारLPG Price Hike Today: घरेलू गैस की कीमत 3.50 रुपए बढ़े, कमर्शियल सिलेंडर पर 8 रुपए का इजाफाIPL के इतिहास में पहली बार होगा ऐसा, इन टीमों के बिना खेला जाएगा प्लेऑफपोर्नोग्राफी मामले में व्यवसायी राज कुंद्रा के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग का भी मामला दर्जज्ञानवापी मस्जिद मुद्दे पर राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ का पहला बयान, केंद्रीय मंत्री भी बोले
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.