Agra Fort

आगरा किला

Agra Fort

विवरण :

आगरा किला ताजमहल के बाद आगरा की दूसरी विश्व धरोहर है। जो विश्व प्रसिद्ध ताज महल से 2.5 किलोमीटर की दूरी पर ही स्थित है। इस किले को लाल किला भी कहा जाता है। दिल्ली स्थित लाल किले से इसकी वास्तुशिल्प शैली और डिजाइन भी काफी मिलती है। दोनों ही किले का निर्माण लाल बलुआ पत्थर से किया गया है। भारत के मुगल सम्राट बाबर, हुमायूं, अकबर, जहांगीर, शाहजहां व औरंगज़ेब ने इसी किले में रहकर शासन किया।
आगरा किला यमुना नदी के दाएं किनारे पर स्थित है। इसका नक्शा अर्ध वृत्ताकार है। इसकी चारदीवारी 70 फीट उंची है। ये किला लगभग 94 एकड़ जमीन पर फैला हुआ है। इस किले के चार प्रवेश द्वार थे। जिनमें से दो को बंद कर दिया गया था। आज पर्यटकों को राणा अमरसिंह दरवाजे से प्रवेश करने की अनुमति है। 'जहांगीरी महल' पहला उल्‍लेखनीय भवन है जो अमरसिंह नामक प्रवेश द्वार से आने पर अतिथि सबसे पहले देखते हैं। जहांगीर अकबर का बेटा था और वह मुगल साम्राज्य का उत्तराधिकारी भी था। जहांगीर महल का निर्माण अकबर ने महिलाओं के लिए कराया था। यह पत्‍थरों से बना हुआ है और इसकी बाहरी सजावट बहुत ही सादगी वाली है। अकबर ने जहांगीर महल के पास अपनी रानी जोधाबाई के लिए एक महल का निर्माण भी कराया था।
आगरा किला एक प्राचीन स्थल पर बनाया गया है, जो बादलगढ़ के नाम से मशहूर था। कहा जाता है कि इस किले पर चौहान वंश के शासकों का अधिकार था। कुछ समय के लिए मोहम्मद गजनवी की सेना ने किले पर कब्जा कर लिया था। बाद में सिकंदर लोदी (1488-1517) दिल्ली का पहला सुल्तान था, जो बाद में आगरा स्थानांतरित हुआ और इस किले में रहने लगा। 15वीं सदी के अंतिम दशक में आगरा को राजधानी होने का गौरव भी प्राप्त हुआ था। सिकंदर लोधी ने इसी किले में रहकर शासन किया था। अपने शासनकाल में उसने किले के आस-पास कई मस्जिद, दीवारों और भवनों का निर्माण करवाया था। अकबर के शासन काल में इस किले का नवीनीकरण कराया गया। 1565-1573 तक इस किले में हर रोज काम हुआ। करीब चार हजार मजदूरों ने रोजाना इस किले पर काम किया और ये किला आठ साल में बनकर तैयार हुआ।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK