दिसंबर में ही कर दी थी ज्योतिषी ने महामारी की भविष्यवाणी, अब बोली यह बड़ी बात

कोरोना वायरस ने पूरे विश्व को इस समय अपनी चपेट में ले रखा है। चीन से फैला यह वायरस अब विश्व के लगभग हर देश में अपने पैर पसार चुका है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में मध्यप्रदेश सहित हर राज्य अपने नागरिकों को सुरक्षित करने के लिए जरुरी कदम उठा रहा है। आगामी 29 मार्च को गुरु का मकर राशि में प्रवेश हो रहा है। दिसंबर माह में ही रतलाम के प्रसिद्ध ज्योतिषी अभिषेक जोशी ने महामारी को लेकर भविष्यवाणी कर दी थी।

रतलाम। कोरोना वायरस ने पूरे विश्व को इस समय अपनी चपेट में ले रखा है। चीन से फैला यह वायरस अब विश्व के लगभग हर देश में अपने पैर पसार चुका है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में मध्यप्रदेश सहित हर राज्य अपने नागरिकों को सुरक्षित करने के लिए जरुरी कदम उठा रहा है। आगामी 29 मार्च को गुरु का मकर राशि में प्रवेश हो रहा है। दिसंबर माह में ही रतलाम के प्रसिद्ध ज्योतिषी अभिषेक जोशी ने महामारी को लेकर भविष्यवाणी कर दी थी। अब उन्होंने कहा है कि आने वाले दिनों में किस राशि पर इस महामारी का असर अधिक होगा या कम यहां पढे़ं क्या कहते है आपका भविष्यफल...

कारोना वायरस के बीच आई खुश खबर

Guru Gochar Makar Rashi 2020

रतलाम के प्रसिद्ध ज्योतिषी अभिषेक जोशी ने बताया कि देवगुरु यानि बृहस्पति को ज्योतिष में बहुत ही महत्वपूर्ण ग्रह माना जाता है। इनको आकाशीय कौंसिल में मंत्रिपद हासिल है। इसलिए गुरु के मकर राशि में गोचर को ज्योतिष में महत्वपूर्ण स्थान प्राप्त है। इस समय यह अपनी मूलत्रिकोण राशि धनु में विचरण कर रहे हैं और यह 29 मार्च की शाम को 7 बजकर 10 मिनट पर मकर राशि में प्रवेश करेंगे। मकर राशि में यह 29 जून 2020 तक रहेंगे।

VIDEO इनको करीना के बारे में पता, बोले कोरोना क्या बला है

Guru Gochar Makar Rashi 2020

बच सकती हैं यह राशियां
रतलाम के प्रसिद्ध ज्योतिषी अभिषेक जोशी ने बताया कि गुरु शब्द दो शब्दों का समन्वय है, गु यानी अंधकार और रु यानी अंधकार को दूर भागने वाले। इसलिए गुरु का अर्थ है अंधकार को दूर भगाकर ज्ञान का प्रकाश करने वाला। गुरु ग्रह चूंकि व्यक्ति को जागरुक बनाता है इसलिए गुरु की अच्छी स्थिति से व्यक्ति स्वास्थ्य को लेकर भी सावधान रहता है। इस समय गुरु ग्रह का मकर राशि में गोचर मेष, कन्या और मीन राशि के जातकों के स्वास्थ्य दृष्टिकोण से शुभ रहेगा। गुरु महाराज की शुभ स्थिति से इन राशियों की सकारात्मकता और रोग प्रतिरोधक क्षमता में वृद्धि होगी। गुरु इन राशियों को जरुरी जीवन बल प्रदान करेंगे। इसके साथ ही संरक्षक की भूमिका में भी रहेंगे। इसलिए इन राशियों पर कोरोना वायरस का असर ना के बराबर या बिल्कुल नहीं रहेगा। फिर भी इन राशियों को थोड़ा जागरूक रहने की आवश्यकता रहेगी। बाहर निकलने से बचना होगा। मास्क सहित सैनिटाईजर का उपयोग करना होगा।

देखें VIDEO लॉकडाउन में बाहर निकले तो मिलेगा पुलिस के डंडो का प्रसाद

Horoscope Weekly 20 July To 25th July Rashifal Astrology In Hindi

प्रभावित हो सकती हैं यह राशियां
रतलाम के प्रसिद्ध ज्योतिषी अभिषेक जोशी ने बताया कि वृषभ, वृश्चिक, मकर, कुम्भ राशि वाले जातकों को इस समयावधि में अपनी सेहत को लेकर थोड़ा सचेत और जागरूक होने की आवश्यकता रहेगी। इस अवधि में यह राशि वाले लापरवाह, नकारात्मक विचारों से भरे हुए, तनावग्रस्त रहेंगे जिसके कारण आपको भय और पीड़ा का सामना करना पड़ सकता है। यह स्थितियां आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता पर भी हमला करेंगी, जिसके कारण इन राशि वालों को आसानी से संक्रमित हो सकते हैं। इसलिए आपको इस समय कोरोना वायरस से बचने के लिए अपनी रोगप्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने की जरुरत है। इसके लिए आप सकारात्मक लोगों के बीच रहें, प्रेरणादायक पुस्तकें पढ़ें योग-ध्यान करें। नियमित प्राणायाम आपके लिए संजीवनी का काम करेगा। हालांकि इन राशि के जातकों की कुंडली में गुरु यदि शुभ स्थिति में विराजमान हैं तो इन्हें घबराने की कोई आवश्यकता नहीं है।

होने वाली है गुरु व शनि की युति, आपकी राशि में होंगे यह बदलाव

grahon ki chaal astrology today 26 march 2019
IMAGE CREDIT: lali koshta

राशि अनुसार मिलेगा यह फल

मेष राशि - मेष राशि वालों के लिए गुरु का भ्रमण दशम राशि में होगा, इस राशि में यह राशि स्वामी मंगल के साथ स्थित होगा, जो स्वास्थ्य की दृष्टि से शुभता का संकेत कर रहा है। इस गोचर में आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता अपने चरम पर होगी।

वृषभ राशि - वृषभ राशि के जातकों के लिए यह गोचर खराब फल लेकर आ सकता है। गुरु अपने गोचर में शुक्र पर दृष्टि करेंगे जो कि वृषभ राशि के लिए लग्नेश और षष्ठेश की भूमिका में रहता है। इससे आपको स्वास्थ्य सम्बन्धी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है।

मिथुन राशि - लग्नेश की पापी ग्रहों के मध्य स्थिति और संरक्षक गुरु का गोचर में उससे सम्बन्ध न होना, स्वास्थ के दृष्टिकोण से इस राशि के जातकों के लिए चिंताजनक हो सकता है। इस समय अनिश्चितता और तनाव आप पर हावी हो सकते हैं, जो कि स्थिति को और बिगाड़ सकते हैं। इस समय आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता में भी कमी रहेगी।

कर्क राशि - कर्क राशि के लिए गुरु का गोचर शुभ रहेगा, लग्नेश पर गुरु की दृष्टि , उसका पंचमेश मंगल के साथ उच्च का होना इस राशि के जातकों के लिए बहुत शुभ रहेगा। यह ग्रह स्थिति स्वास्थ्य सम्बन्धी मामलों के लिए बहुत शुभ रहेगी। इस समयावधि में कर्क राशि वाले खुद को उत्साहित और ऊर्जावान महसूस करेंगे।

कोरोना वायरस का असर : एक दिन में सोना 350 व चांदी 1400 रुपए सस्ता

हर रूके कार्य हो जाएंगे पूरे, नवरात्रि में पढ़ लें देवी का यह स्त्रोत

खान पान का विशेष ध्यान

सिंह राशि - सिंह राशि के लिए षष्ठम भाव में गुरु का गोचर अच्छा नहीं रहेगा, यह आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता के लिए शुभ नहीं है। गुरु पंचमेश होकर नीच राशि में रहेंगे, जिससे आपके स्वभाव में नकारात्मकता उत्पन्न हो सकती है, जिससे स्वास्थ्य बिगड़ सकता है। इस समय खान पान का विशेष ध्यान रखें।

कन्या राशि - गुरु का आपके पंचम भाव में पंचमेष शनि के साथ होना बहुत शुभ रहेगा। षष्ठेश मंगल का भी उच्च का होना यह दर्शाता है कि इस समय आपकी जुझारू प्रवृति में इजाफा होगा।

तुला राशि - तुला राशि के लिए गुरु का गोचर शुभ नहीं कहा जा सकता। इस समय लग्नेश शुक्र की अष्टम में स्थिति और उस पर गुरु की दृष्टि स्वास्थ्य के लिए शुभ परिस्थितियों का निर्माण नहीं कर रहे। गुरु की षष्ठेश होकर चतुर्थ में मारक मंगल के साथ होना यह दर्शाता है कि खान पान की वजह से आपको स्वास्थ्य सम्बन्धी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है।

वृश्चिक राशि - वृश्चिक के लिए यह गुरु का गोचर स्वास्थ्य के लिहाज़ से ज्यादा लाभप्रद स्थितियां उत्पन्न नहीं कर रहा है। एक से ज्यादा ग्रहों की स्थिति आपके तीसरे भाव में यह दर्शाती है कि किसी भी प्रकार की अति करना आपके स्वास्थ्य के लिए खराब हो सकता है, चाहे वह खान पान की अति हो, या कार्य की अति हो, आपको दिक्कत दे सकते हैं।

स्टेशन पर चौथा गेट हो रहा तैयार, मार्च अंत तक पूरा होगा

हर रूके कार्य हो जाएंगे पूरे, नवरात्रि में पढ़ लें देवी का यह स्त्रोत

गोचर आपके लिए शुभ

धनु राशि - धनु राशि के लिए गुरु का गोचर स्वास्थ्य को लेकर शुभ स्थितियों का निर्माण कर रहा है। इस समय आप स्वास्थ्य को लेकर जागरूक अवस्था में रहेंगे। आप खुद को सकारात्मक विचारों से भरने का प्रयत्न्न करेंगे, जिससे हर हिसाब से यह गोचर आपके लिए शुभ रहेगा।

मकर राशि - गुरु द्वादशेश होकर आपके लगन में भ्रमण करेंगे, जो स्वास्थ्य के लिहाज़ से शुभ संकेत नहीं दे रहा। इस समय आप थकान, चिड़चिड़ापन,महसूस करेंगे। आप के अंदर अधिक गुस्सा और नकारात्मकता हावी रहेगी, जिससे आपकी ऊर्जा में कमी आएगी। यह आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता को भी प्रभावित करेगा।

कुंभ राशि - कुंभ राशि के लिए गुरु का गोचर उनके द्वादश भाव में हो रहा है, जो कि स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से शुभ नहीं रहेगा। गुरु की लग्नेश के साथ स्थिति, यह दर्शाती है कि इस समय संक्रमण की शिकायत अधिक हो सकती है। एक से अधिक ग्रहों की द्वादश भाव में स्थिति नींद न आना, चिड़चिड़ापन आदि देता है और इससे खानपान को लेकर भी आप अव्यवस्थित रह सकते हैं।

मीन राशि - मीन राशि वालों के लिए गुरु का गोचर स्वास्थ्य के लिहाज़ से बहुत शुभ रहेगा। इसके साथ भाग्येश मंगल का उच्च का होना अति शुभ संकेत दे रहा है। यह गोचर दर्शाता है कि इस समय आपको भाग्य का हर समय साथ मिलेगा। आपके लिए परिशतियां शुभ रहेंगी, जो कि आपके अच्छे स्वास्थ्य में भी दिखलाई देंगी।

एमपी में बोर्ड परीक्षा में सवाल, आजाद कश्मीर के बारे में बताओ

चैत्र नवरात्रि 2020 भविष्यवाणी : आनंद संवत्सर के चलते अनाज होगा सस्ता

पांच दिनों में सोना 1300 रुपए, चांदी 3600 रुपए गिरावट

रतलाम में 8 हजार खातेदार गायब, 7 करोड़ रुपए का नहीं मिल रहा हिसाब

कोरोना वायरस का असर : रतलाम सहित देशभर में सभी ट्रेन 14 अप्रैल तक निरस्त

corona1.png
Show More
Ashish Pathak Reporting
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned